ऑस्ट्रेलिया को रौंध कर भारतीय महिला क्रिकेट टीम शान से सेमीफइनल में

0
908

आईसीसी महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप 2017 के सेमीफ़ाइनल में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराकर फ़ाइनल में जगह बना ली है. फ़ाइनल में अब भारत का मुकाबला रविवार को लॉर्ड्स में इंग्लैंड से होगा.

महिला क्रिकेट के विश्वकप के फ़ाइनल में भारत दूसरी बार पहुंचा है. साल 2005 के फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 98 रनों से हराया था.

इंग्लैंड में डर्बी के काउंटी ग्राउंड में सेमीफ़ाइनल में भारत के ख़िलाफ़ ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही.

ऑस्ट्रेलिया ने अपने पहले दो विकेट बहुत जल्दी गंवा दिए थे.

सलामी बल्लेबाज़ निकोल बोल्टन महज 14 रन बनाकर पैवेलियन लौटीं, जबकि बेथ मूनी सिर्फ एक रन ही बना सकीं.

इसके बाद आईं ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग शून्य पर आउट हो गईं.

लेकिन इस लड़खड़ाती पारी को एलीस पेरी और एलिसे विलेनी ने संभाला.

ऑस्ट्रेलियाई टीम की ओर से सर्वाधिक 75 रन विलेनी ने जोड़े. एलिसी पेरी और विलेनी ने 106 रनों की साझेदारी कर टीम को मुकाबले में ला खड़ा किया.

लेकिन विलेनी के जाते ही पेरी भी चलती बनीं. उन्होंने 38 रन बनाए.

इसके बाद ऑस्ट्रेलिया की पारी संभल नहीं पाई. एलिसा हीली (5), एश्ले गार्डनर (1), जेस जोनासन (1), मेगन शट (2) और क्रिस्टीन बीम्स (11) बहुत देत तक नहीं टिक पाए.

अंतिम विकेट की साझेदारी करते हुए एलेक्स ब्लैकवेल ने मैच में कुछ जान डाली. हालांकि वो छठे स्थान पर आई थीं लेकिन बीच बीच में विकेट गिरते रहे और वो दूसरे छोर पर टिकी रहीं. उन्होंने धमाकेदार 90 रन बनाए.

एक समय तो ऐसा लगा कि वो अपने दम पर मैच जिता ले जाएंगी. भारत के 281 रनों के मुकाबले ऑस्ट्रेलिया ने कुल 245 रन बनाए.

भारत की ओर से गेंदबाज़ दीप्ति शर्मा ने तीन विकेट, शिखा पांडे और झूलन गोस्वामी ने दो दो विकेट झटके जबकि राजेश्वरी गायकवाड़ और पूनम यादव के खाते में एक एक विकेट आए.

भारतीय पारी

टीम इंडिया ने हरमनप्रीत कौर के विस्फोटक शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया के सामने 282 रनों का लक्ष्य रखा था.

भारत ने निर्धारित 42 ओवर में चार विकेट पर 281 रन बनाए थे. बारिश की वज़ह से देर से शुरू हुए इस मुक़ाबले को 42 ओवरों का कर दिया गया था.

भारतीय पारी की हीरो साबित हुईं हरमनप्रीत कौर. उन्होंने महज 115 गेंदों पर नाबाद 171 रन बनाए. उन्होंने 20 चौके और 7 छक्के लगाए.

हालांकि टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत भी अच्छी नहीं हुई थी.

पहले ही ओवर की अंतिम गेंद पर ओपनर स्मृति मंधाना केवल 6 रन बनाकर आउट हो गईं थीं. 10वें ओवर में 35 के स्कोर पर पूनम राउत भी 14 रन ही बना सकी थीं.

इसके बाद कप्तान मिताली राज और हरमनप्रीत कौर ने तीसरे विकेट के लिए 66 रनों की साझेदारी कर विकेट गिरने की रफ़्तार पर रोक लगाई. 25वें ओवर में मिताली राज 36 रन बनाकर बोल्ड हो गईं.

हरमनप्रीत कौर और 19 वर्षीय ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा ने चौथे विकेट के लिए 137 रन जोड़े. दीप्ति शर्मा ने इस शतकीय साझेदारी के दौरान 25 रन बनाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here