दारोगा भर्ती प्रश्नपत्र लीक करने वाले गिरोह के सात सदस्य गिरफ्तार

0
609

लखनउ, 23 अगस्त : उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स एसटीएफ ने पिछले महीने होने वाली पुलिस उपनिरीक्षक की आनलाइन परीक्षा का प्रश्नपत्र हैक करने वाले गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार किया है।
एसटीएफ के महानिरीक्षक अमिताभ यश ने आज यहां संवाददाताओं को बताया कि दारोगा भर्ती परीक्षा का प्रश्नपत्र हैक करने के मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
मालूम हो कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा पिछली सात जुलाई से 31 जुलाई के बीच 97 परीक्षा केन्द्रों पर दारोगा के पदों के लिये आनलाइन परीक्षा आयोजित की थी। इस परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिये मुम्बई की कम्पनी एनएसईआईटी को ठेका दिया गया था।
यश ने बताया कि 24 जुलाई को परीक्षा के दौरान एसटीएफ को व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से 21 और 24 जुलाई का पर्चा लीक होने और ऐसा करने वाले गिरोह द्वारा अभ्यर्थियों से प्रश्नपत्र के बदले 10-10 लाख रपये वसूले जाने की सूचना मिली थी।
उन्होंने बताया कि जांच में पता लगा कि पर्चा लीक करने वाले गिरोह के सदस्य अलीगढ, मथुरा, आगरा तथा इलाहाबाद के अतिरिक्त हरियाणा के पलवल जिले में भी सक्रिय हैं। एसटीएफ ने इस गिरोह के सात सदस्यों को चिन्हित किया गया, जिनको कल साइबर क्राइम थाना लखनउ में पूछताछ के लिये बुलाया गया। उनके द्वारा पेपर लीक किये जाने की पुष्टि होने पर उन्हें हिरासत में लेकर मुकदमा दर्ज किया गया।
पकडे गये अभियुक्तों में गौरव आनन्द, बलराम, पुष्पेन्द्र सिंह, दिनेश कुमार, दीपक कुमार, गौरव खत्री तथा राकेश कुमार शामिल हैं।
यश ने बताया कि छानबीन के दौरान यह बात भी प्रकाश में आयी है कि परीक्षा आयोजित कराने वाली कम्पनी द्वारा सूचना सुरक्षा नीति के निर्धारित मानकों का पालन नहीं किया गया और परीक्षा में आनलाइन सुरक्षा के मूलभूत सिद्धान्तों की अनदेखी भी की गयी है।
पुलिस महानिरीक्षक के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि उनके गिरोह के सरगना का नाम सौरभ जाखड है जो इस समय हत्या के एक मामले में पलवल जिला जेल में बंद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here