BBAU के छात्रों ने समाज कल्याण विभाग के निदेशक का पुतला फूँका

0
855

समाज कल्याण विभाग तत्काल प्रभाव से यदि इस सूचना को वापस नही लेता है तो उग्र आंदोलन करेंगे

लखनऊ 8 अक्टूबर। बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विवि, लखनऊ के अम्बेडकर यूनिवर्सिटी दलित स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों ने आज समाज कल्याण विभाग के निदेशक मनोज सिंह का पुतला फूंक कर बहुजन छात्रों ने अपना विरोध दर्ज कराया।

छात्रों का कहना है कि जब से केंद्र में बीजेपी की सरकार आई है, तब से यह सरकार लगातार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग के छात्रछात्राओं के अधिकारों को खत्म कर लगातार संविधान के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। पहले मोदी सरकार ने शिक्षा का बजट केंद्र में आते ही कुल GDP का 1% से 0.5 % कर दिया है। जिससे देश के SC/ST और OBC वर्ग के छात्रों को शिक्षा ग्रहण करने से वंचित हो रहे है। जिससे केंद्र सरकार का बहुजनों के प्रति षड्यंत्र का पता चलता है। जिससे वो शिक्षा ग्रहण कर सकें। उत्तर प्रदेश में भी बीजेपी सरकार के आने से इन्होंने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति का बजट में भी 90% से ज्यादा कटौती की। जिससे योगी सरकार की मंशा का पता चलता है कि वंचित समाज के छात्र शिक्षा ग्रहण कर सकें।

विवि के छात्रों द्वारा समाज कल्याण विभाग के द्वारा उत्तर प्रदेश के इंजीनियर कॉलेज में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को जीरो फीस पर एडमिशन देने के फरमान को वापस लेने की चेतावनी दी है। क्योकि विभाग के इस निर्णय से लाखों गरीब छात्र छात्राएं शिक्षा से वंचित रह जाएंगे। अगर समाज कल्याण विभाग ने तत्काल प्रभाव से इस सूचना को वापस नही लेता है तो उग्र आंदोलन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here