BHU छात्राओं पर लाठीचार्ज मामला: 3 अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट, 2 पुलिस अधिकारी हटाए गए

0

वाराणसी, 25 सितंबर: उत्तर प्रदेश सरकार ने कथित छेडछाड के एक मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्राओं पर लाठीचार्ज किए जाने के संबंध में तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट और दो पुलिसकर्मियों को आज हटा दिया।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लंका पुलिस थाना प्रभारी राजीव सिंह को हटाकर पुलिस लाइन भेज दिया गया है। जैतपुरा पुलिस थाना प्रभारी संजीव मिश्रा को उनकी जगह पर तैनात किया गया है।
इसके अलावा भेलूपुर के क्षेत्राधिकारी निवेश कटियार को हटाकर उनके स्थान पर कोतवाली क्षेत्राधिकारी अयोध्या प्रसाद को नियुक्त किया गया है।

वाराणसी के जिला सूचना कार्यालय की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह, सुशील कुमार गोंड और जगदम्बा प्रसाद सिंह को भी हटा दिया गया है।
कथित छेडखानी की एक घटना के खिलाफ बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में शनिवार रात को छात्रों के विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था। इन प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के लाठीचार्ज में महिलाओं समेत कई छात्र और दो पत्रकार भी घायल हुए थे।
हिंसा तब शुरू हुई जब गुरवार को हुई कथित छेडखानी का विरोध कर रहे कुछ छात्र विश्वविद्यालय के कुलपति से मिलना चाहते थे।
सूत्रों के अनुसार विश्वविद्यालय के सुरक्षा गार्डों ने उन्हें रोका और पुलिस को सूचित किया गया।
बीएचयू के प्रवक्ता ने कहा कि कुछ छात्र कुलपति के आवास में जबरन प्रवेश करना चाहते थे, लेकिन विश्वविद्यालय के सुरक्षा गार्डों ने उन्हें रोका। इसके बाद छात्रों में शामिल हो गए बाहरी लोगों ने पथराव किया। हालात पर नियंत्रण करने के लिये पुलिस ने लाठीचार्ज का सहारा लिया।
पुलिस के लाठीचार्ज में महिलाओं समेत कई छात्र और दो पत्रकार घायल हो गए।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि संघर्ष के दौरान कुछ पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए। इस दौरान छात्रों ने आगजनी भी की।
हिंसा के मद्देनजर जिला प्रशासन ने वाराणसी के सभी कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में दो अक्तूबर तक छुट्टियों की घोषणा कर दी है। बीएचयू में पहले 28 सितंबर से छुट्टी होने वाली थी।