गुजरात स्टार्टअप और टेक्नोलॉजी समिट 2018 पर हुआ जागरूकता सत्र का आयोजन

0
867
भोपाल, 02 सितम्बर 2018: गुजरात सरकार ने राष्ट्रीय सहयोगी के रूप में जागरण लेकसिटी यूनिवर्सिटी के साथ वाइब्रेंट गुजरात स्टार्टअप और टेक्नोलॉजी समिट 2018 पर जागरूकता सत्र का आयोजन किया, जो कि 11, 12 और 13 अक्टूबर को गांधीनगर में आयोजित होने जा रहा हैं।  इस समिट के दूसरे संस्करण का विषय ” एक्सपीरियंस द नेक्स्ट” होगा। इस कार्यक्रम में स्टार्टअप, प्रौद्योगिकी, निवेशकों और विचारो का बड़ा समूह मौजूद होगा।
इस अवसर पर अहमदाबाद से आये वाइब्रेंट गुजरात स्टार्टअप और टेक्नोलॉजी समिट के कार्यकारणी सदस्य अंकित माछर ने ग्रांड चैलेन्ज 2018 के बारे में लोगो को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि ग्रैंड चैलेंज के तहत 44 स्टार्टअप्स को 3 करोड़ पुरस्कार राशि दी जाएगी l
कार्यक्रम के अगले पड़ाव में भोपाल के प्रतिष्ठित स्टार्टअप फाउंडर्स की परिचर्चा का आयोजन किया गया, जिसमें नेमेश सिंह, उमंग श्रीधर और श्वेता पाठक ने हिस्सा लिया। परिचर्चा का संचालन जागरण लेकसिटी बिज़नेस स्कूल के निर्देशक डॉ नीलेश खरे ने किया। परिचर्चा में शामिल फाउंडर्स ने बताया कि भोपाल में रहते हुए कैसे वो अपने स्टार्टअप के जरिये न सिर्फ भारत में अपितु विदेशों में भी अपनी सेवाएं दे रहे है।
परिचर्चा के उपरांत बी नेस्ट (भोपाल स्मार्ट सिटी कारपोरेशन लिमिटेड) के योगेश खाकरे ने भोपाल में युवाओं के लिए उपलब्ध इन्क्यूबेशन की सुविधाओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश को ऐसे नौजवानो की जरुरत हैं जो विकास को बढ़ावा दे सके और अपनी नई पीढ़ी के पास इनोवेटिव और क्रिएटिव आइडियाज हैं जो की एक स्टार्टअप के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं, जरुरत हैं तो उनके विचारो को साथ देने और एक राह पे आकार देने की हैं ताकि उनका स्टार्टअप सफल हो सके, और ऐसे कार्यक्रम युवा उघमियों को सही राह और मंच प्रदान करते हैं जिससे वो अपने सपने साकार कर सके।
वाइब्रेंट गुजरात स्टार्टअप और टेक्नोलॉजी समिट 2018 निवेशकों के साथ नए विचारो और प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के लिए एक आम मंच प्रदान करने के लिए केंद्रित होगा। इस समिट में नए उघमों के निर्माण के साथ साथ मौजूदा स्टार्टअप का समर्थन भी होगा। समिट में आज के प्रतिस्पर्धी समय में स्टार्टअप द्वारा सामना की जाने वाली प्रमुख चुनौतियों को भी समझने का अवसर प्रदान किया जायेगा। स्थापित उघमियों द्वारा भी अनुभव साझा होगा ताकि उघमी अपने व्यवसायों के पहलुओं को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ाये।
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here