रिपोर्ट कार्ड की राह पर राजनाथ

0
497
डॉ दिलीप अग्निहोत्री
लखनऊ में जिम्मेदार लोगों के द्वारा अपना रिपोर्टकार्ड जारी करने की परंपरा आगे बढ़ी। इस बार लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने अपना  रिपोर्ट कार्ड जारी किया। केंद्रीय  गृहमंत्री के रूप में राजनाथ ने लखनऊ में ही केंद्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर रिपोर्ट कार्ड जारी किया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी करते है। राज्यपाल राम नाईक ऐसे प्रयासों के प्रशंसक है। वह पिछले चालीस वर्षो से यह कार्य करते आ रहे है।
राजनाथ सिंह और योगी आदित्यनाथ, केशव प्रसाद मौर्य के मंसूबो से लगा कि ये आमचुनाव के लिए कमर कस चुके है। विपक्ष के गठबन्धन का विकास से मुकाबला किया जाएगा।
 गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ में प्रस्तावित तीन फ्लाईओवर का शिलान्यास किया। कुल चार सौ नौ करोड़ रुपये की लागत वाले तीनों फ्लाईओवर का निर्माण अगले दस दिन में शुरू कर दिया जाएगा। तीनों फ्लाईओवर बनने से करीब आठ लाख लोगों को ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार डेढ़ महीने में ही चौवन हजार किमी सड़कों की मरम्मत करवा चुकी है। गांवों-बसावटों को सम्पर्क मार्गों से जोड़ने में पिछली सरकार को पीछे छोड़ दिया है।

राजनाथ सिंह ने लखनऊ में नौ सौ करोड़ रुपए से अधिक की लागत वाली चार सौ अड़तीस परियोजनाओं का शिलान्यास किया और कहा कि लखनऊ के सर्वांगीण विकास के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लखनऊ के विकास की जो नींव पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी, उसे बाद में सांसद लालजी टंडन और अब वह खुद आगे बढ़ा रहे हैं। लखनऊ जल्द ही स्मार्ट सिटी बनेगा। आउटर रिंग रोड की स्वीकृति मिलते ही लखनऊ में आर्थिक गतिविधियों तेज होंगी। हवाई अड्डे की पैसेंजर हैंडलिंग क्षमता को सालाना एक करोड़ करने के लिये नई इंटीग्रेटेड टर्मिनल बिल्डिंग का तरह सौ करोड़ रुपए की लागत से निर्माण स्वीकृत कर लिया गया।

मेहनत कश गरीबों और किसानों के उत्थान के लिए चार हजार तीन सौ पचास करोड़ रुपए की लागत से सबका साथ, सबका विकास ग्राम सड़क योजना शुरू की गई। प्रदेश सरकार की गौरवपथ योजना अभूतपूर्व है। वर्ष गत वर्ष  में यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडियट परीक्षाओं में प्रमुख स्थान पाने वाले चौबीस मेधावी विद्यार्थियों के गांव को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए सात करोड़ रुपए और अठासी विद्यार्थियों के गांव को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए तेईस करोड़ रुपए की लागत से काम किया जा रहा है।

पहली बार एक साथ छह किलोमीटर से ज्यादा लंबाई के चार एलिवेटेड हाईवे का शिलान्यास हो रहा है। इनके निर्माण पर चार सौ  चौदह किसीकरोड़ रुपए की लागत अनुमानित है। इसके अलावा उन्नीस सौ करोड़ रुपए की लागत से गोमती नगर टर्मिनस का काम शुरू हो गया है। इसके बन जाने के बाद चारबाग रेलवे स्टेशन के बोझ को कम किया जा सकेगा। चारबाग रेलवे स्टेशन पर अठारह करोड़ रुपए की लागत से काम हो रहा है. इससे जहां एक ओर यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी वहीं आउटर पर रेलगाड़ियों में होने वाले संचालन विलंब को भी दूर किया जा सकेगा। इसी तरह छानबे  करोड़ रुपए की लागत से आलम नगर रेलवे स्टेशन के विकास का कार्य किया जा रहा है। गोमती को प्रदूषण मुक्त करने के लिए कदम उठाए गए है।
हैदर कैनाल पर तीन सौ छाछठ करोड़ रुपए की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के काम को मंजूरी दे दी गई है। पच्चीस जुलाई से काम भी शुरू हो गया है। इसी तरह ग्यारह करोड़ रुपये की लागत से सामुदायिक शौचालयों पर काम किया जा रहा है। राजनाथ सिंह ने बतौर सांसद अपने अनेक कार्यो की चर्चा की। कुर्सी रोड से फैजाबाद मार्ग का आधे से ज्यादा कार्य पूरा हो गया है। लखनऊ सुल्तानपुर मार्ग से भी लोगो को सुविधा मिलेगी। केंद्र में बड़ी जिम्मेदारी के निर्वाह के साथ वह लखनऊ के लिए भी समय निकालते रहे है।
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here