साहित्य साधना का सम्मान

डॉ दिलीप अग्निहोत्री हृदय नारायण दीक्षित ने साहित्य और सियासत दोनों में विशिष्ट मुकाम बनाया है। वह ग्रामीण क्षेत्र से चुनाव लड़ते हुए पांच बार विधान सभा के सदस्य बने, प्रदेश में कैबिनेट मंत्री रहे, इस समय विधान सभा के अध्यक्ष है। अपने निर्वाचन क्षेत्र या आवास पर मिलने आये ज़न सामान्य के बीच उनका … Continue reading साहित्य साधना का सम्मान