गांधी को नमन कर पुस्तक मेला विदा, 10 दिन में बिकीं 70 लाख रुपये की किताबों

0
1319

डाण्डिया रास की मस्ती बीच मेले के सहयोगी, प्रकाशक और वितरक हुए सम्मानित

लखनऊ, 3 अक्टूबर। महात्मा गांधी को नमन करते हुए बलरामपुर गार्डन अशोक मार्ग में 23 सितम्बर से चल रहा उन्नीसवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला आज अगले वर्ष तक के लिए विदा ले गया। अंतिम दिन मेले में खरीदारों की भारी तादाद रही।

मेले में  उत्सवी माहौल रहा। हर बार मेले में उपस्थिति दर्ज कराने वाले सपा नेता राजेन्द्र चौधरी आज दल-बदल मेले में दिखायी दिये। स्टाल वालों ने इस बार के बिक्री अनुभव को अच्छा बताया। समापन समारोह में संयोजक मनोज सिंह चंदेल, सह संयोजक आस्था ढल, आकर्षण जैन ने मेले के सहयोगियों, प्रकाशकों और वितरकों को स्मृति चिह्न इत्यादि देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर संयोजक मनोज चंदेल ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि युवा पुस्तक प्रेमियों के उत्साहपूर्वक मेले में शामिल होने से यहां रौनक रही। साथ ही मेले में शिवमूर्ति, अखिलेश जैसे लेखकों की आमद मेले को लगातार रौशन करती रही। उन्होंने बताया कि इस बार लगभग 70 लाख की किताबें मेले में बिकी।

मेले में देश भर में अंग दान, अंग प्रत्यारोपण को बढ़ावा देने और मिथकों को दूर कर जागरूकता पैदा करने के लिए राज्य अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन और संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान द्वारा जागरूकता सत्र का आयोजन डॉ.आर हर्षवर्धन, नोडल अधिकारी, सोटो-यू.पी. एवं एचओडी, विभाग के नेतृत्व में कल की तरह आज भी हुआ। लोगों ने मीनू किचेन के घर जैसे व्यंजनों का आनन्द भी मेला परिसर में लिया।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here