प्रतिभा सिंटेक्स को मिले ‘डेयर टू ड्रीम’ और इनोवेशन अवार्ड समेत तीन पुरस्कार

1
1604
इंदौर, 22 नवंबर 2018: इंदौर स्थित टेक्सटाइल क्षेत्र की अग्रणी कंपनी प्रतिभा सिंटेक्स को हाल ही में राजधानी भोपाल में हुए एक इवेंट के दौरान फेडरेशन ऑफ मध्यप्रदेश चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज़ द्वारा प्रस्तुत किए गए टेक्सटाइल क्षेत्र की इमर्जिंग कंपनी ऑफ द ईयर के लिए ‘डेयर टू ड्रीम’ अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है।
बता दें कि इस समारोह का संचालन एसएपी के सहयोग से किया गया था। एसएपी ने फेडरेशन ऑफ मध्यप्रदेश चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एफएमपीसीआई) के साथ मिलकर एमपी क्षेत्र से आने वाली विभिन्न कंपनियों और व्यापारियों, जिन्होंने व्यापार के कई पहलुओं को पार करते हुए अपनी सोच और सपने को साकार करने का काम किया है, को नई पहचान दिलाने के मकसद से डेयर टू ड्रीम अवॉर्ड का शुभारम्भ किया है।
प्रतिभा सिंटेक्स के लिए इमर्जिंग कंपनी ऑफ द ईयर का अवार्ड कंपनी के एमआईएस एंड आईटी जनरल मैनेजर श्री सतीश सचदेवा ने प्राप्त किया। इसके अलावा एक अन्य समारोह के अंतर्गत प्रतिभा सिंटेक्स को प्रख्यात ब्रांड एन टेलर द्वारा अपने कपड़ों की सर्वोच्च गुणवत्ता व नवीनता के लिए इनोवेशन अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। इनोवेशन अवार्ड कंपनी के सीईओ अश्वनी पल्लाह और मार्केटिंग बिजनेस डेवलपमेंट एंड सस्टेनेबिलिटी के वाइस प्रेसिडेंट समीर भांड ने प्राप्त किया।
इसके अतिरिक्त संस्था को सामाजिक कल्याण के प्रति किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए भी पुरस्कृत किया गया। प्रतिभा सिंटेक्स को अपने सर्व शिक्षा अभियान के तहत, धार कलेक्टर द्वारा सागर के सरकारी स्कूलों में फर्नीचर और ब्लैकबोर्ड दान करने जैसी सराहनीय पहल के लिए भी सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार संजय जैन, सीनियर मैनेजर एचआर प्रतिभा सिंटेक्स द्वारा प्राप्त किया गया। उल्लेखनीय है कि संस्था विगत दो वर्षों से सरकारी स्कूल के मेधावी छात्र-छात्राओं को 1000 रुपये की सहायक धनराशि से पुरस्कृत करने का काम भी कर रही है।
कंपनी को मिले पुरस्कारों के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हुए प्रतिभा सिंटेक्स के डायरेक्टर श्री श्रेयष्कर चौधरी ने कहा कि, हम अपने इनोवेशन और इमर्जिंग कंपनी ऑफ द ईयर अवार्ड्स एवम सर्व शिक्षा अभियान द्वारा दिये सम्मान से बेहद खुश हैं। अपने कस्टमर्स को इनोवेटिव फेब्रिक्स उपलब्ध कराने के लिए हम लगातार कड़ी मेहनत कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि संस्था ने हाल ही में अपने स्वछता ही सेवा अभियान के अंतर्गत सागौर के एक सरकारी स्कूल की लड़कियों के लिए युवावस्था से जुड़ी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए एक स्पेशल सेशन का आयोजन किया था। इस सेशन के दौरान कक्षा सात से लेकर कक्षा बाहरवीं तक की लगभग 650 बालिकाओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इस दौरान लड़कियों के बीच छह सैनिटरी नैपकिन का पैक भी दिया गया था।

1 COMMENT

  1. Its like you read my mind! You appear to know so much about this, like you wrote the book in it or something. I think that you could do with some pics to drive the message home a bit, but instead of that, this is magnificent blog. An excellent read. I will definitely be back.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here