Home बिजनेस महिंद्रा बाहा एसएईइंडिया 2020 ने की अपने 13वें संस्करण की शुरुआत

महिंद्रा बाहा एसएईइंडिया 2020 ने की अपने 13वें संस्करण की शुरुआत

0
727

282 प्रविष्टियों में से 256 कॉलेज फाइनल इवेन्‍ट के लिए क्‍वालिफाई हुए

इंदौर19 सितंबर2019: महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के टाइटल स्‍पांसरशिप के अंतर्गत गठित ऑटोमोटिव इंजीनियर्स की एक प्रोफेशनल संस्था एसएईइंडिया ने आज बहुप्रतीक्षित बाहा सीरीज के 13वें संस्करण के आरंभ की घोषणा की। फाइनल इवेन्‍ट 23 से 26 जनवरी 2020 तक इंदौर के पास नैट्रिपपीथमपुर में और 6 से 8 मार्च 2020 तक चंडीगढ़ के चितकारा यूनिवर्सिटी में आयोजित किया जाएगा। बाहा एसएईइंडिया 2020 के लिए 24 राज्यों से करीब 282 प्रविष्टियां पूरे भारत के कॉलेजों से प्राप्त हुईं, जिसमें से 200 टीमों को पारंपरिक बाहा के लिए और 56 टीमों को वर्चुअल राउंड में ई-बाहा के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया। एआरएआई के सीनियर डिप्टी डायरेक्टर डॉ. के सी वोरा आयोजन समिति के चेयरमैन हैं, और पीथमपुर के लिए एस बलराज को और चंडीगढ़ के लिए शोएब सादिक को संयोजक बनाया गया है। ऑटोमोटिव और इंजीनियरिंग उद्योग के प्रतिष्ठित व्यक्ति बाहा एसएईइंडिया के नवीनतम संस्करण के लिए पैनल में मौजूद रहेंगे।

मध्य प्रदेश से आईं 16 प्रविष्टियों में इंदौर के 8 कॉलेज हैंजिन्‍होंने फाइनल के लिए क्‍वालिफाई किया है। बाहा सीरीज़ के पिछले कुछ संस्करणों के लिएमध्य प्रदेश से आने वाली अधिकतम प्रविष्टियाँ इंदौर शहर से रही हैं। इंदौर के कॉलेजों ने पिछले कुछ वर्षों से फाइनल इवेन्‍ट में अधिक पुरस्कार जीते हैंजिसमें प्राइड ऑफ इंदौर अवार्ड भी शामिल है।

बाहा एसएईइंडिया छात्रों को 4 दिनों के पाठ्यक्रम में भाग लेने का अवसर देता है, जिसमें छात्रों को एक सिंगल सीटर चार व्हील वाले ऑल-टेरेन वाहन (एटीवी) को डिजाइन करने, बनाने, परीक्षण करने और सत्यापन करने का कॉन्‍सेप्‍ट विकसित करने का कार्य दिया जाता है। इस कार्यक्रम में तकनीकी निरीक्षण, डिजाइन, लागत और सेल्‍स प्रेजेन्‍टेशन जैसे स्टेटिक मूल्यांकन, और एक्सेलेरेशन, स्लेज पुल, मैन्यूवरबिलिटी जैसे डायनामिक इवेन्‍ट्स शामिल होंगे। सस्‍पेंशन और ट्रैक्शन के बाद 4 घंटे का एंड्यूरेंस इवेन्‍ट होगा।

बाहा एसएईइंडिया के लिए एक उल्लेखनीय विशेषता यह है कि वह हर साल एक नई थीम प्रस्‍तुत करता है। इस वर्षबाहा 2020 की थीम ‘ब्रेकिंग कन्वेंशंस’ हैजो बाहा की सोच के अनुकूल है। चाहे वह ई-बाहा हो या ऑल-गर्ल्‍स टीम हो, बाहा हर तरह से चुनौतीपूर्ण कन्‍वेंशंस से जुड़ा है। आज मोबिलिटी का भविष्य अपरंपरागत दिखता है और सारा उद्योग अनिश्चितता का सामना कर रहा हैबाहा इस अवसर का लाभ उठाना चाहेगा और इन नवोदित इंजीनियरों के भविष्य को तैयार करेगा जो पारंपरिक सोच और विचारों केदायरे से बाहर निकल सकते हैं और शानदार इनोवेटर्स के रूप में उभर सकते हैंजो भविष्‍य की मोबिलिटी को नेतृत्व प्रदान करेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here