कराटे प्रतियोगिता में आरडीएसओ एवं महानगर कैम्पस संयुक्त विजेता

1
195

लखनऊ,19 अगस्त 2019: सीएमएस कानपुर रोड कैम्पस के हॉल में आयोजित इण्टर-कैम्पस कराटे प्रतियोगिता के बालक वर्ग में सीएमएस आरडीएसओ एवं महानगर कैम्पस ने 35-35 अंक अर्जित कर संयुक्त रूप से चैम्पियन होने का गौरव प्राप्त किया।

इस प्रतियोगिता में 100 से अधिक छात्रों ने प्रतिभाग लिया एवं उच्च तकनीक एवं दमखम का प्रदर्शन कर अपनी खेल प्रतिभा का जलवा दिखाया। 25 किग्रा से कम भारवर्ग में आर.डी.एस.ओ. कैम्पस के अक्षत यादव, 30 किग्रा भार वर्ग में गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के पार्थ शर्मा, 35 किग्रा भार वर्ग में महानगर कैम्पस के सम्यक राज चन्द्रा, 40 किग्रा एवं 45 किग्रा भार वर्ग में आर.डी.एस.ओ. कैम्पस के अगस्त्य सिंह एवं हर्ष राणा, 50 किग्रा भार वर्ग में महानगर कैम्पस के विवान नौटियाल एवं 50 किग्रा से अधिक भार वर्ग में महानगर कैम्पस के रेवान छन्ना विजयी रहे।

नेशनल प्रेजेन्टेशन समारोह में छात्रों ने किया शानदार प्रदर्शन

लखनऊ, 19 अगस्त। दो दिवसीय सी.आई.एस.वी. मिनी कैम्प का समापन सी.एम.एस. कानपुर रोड आडिटोरियम में ‘नेशनल प्रेजेन्टेशन समारोह’ धूम-धाम से सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर जहाँ एक ओर छात्रों ने देश-विदेश के लोक नृत्यों का पारम्परिक रंग-बिरंगी वेशभूषा में प्रस्तुतीकरण करके हँसते-गाते एक विश्व परिवार की अनुभूति करायी तो वहीं दूसरी ओर सर्व-धर्म व विश्व शान्ति प्रार्थना के भव्य प्रस्तुतीकरण के द्वारा सभी बच्चों ने एक-साथ मिलकर ‘सारे विश्व में एकता व शान्ति राज्य कायम हो’ का सन्देश सारी मानव जाति को दिया।

देश-विदेश के लोकनृत्यों व लोकगीतों की अनूठी छटा ने अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया तो वहीं दूसरी ओर प्रेरणादायी शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा सभी को विश्व एकता व विश्व शान्ति के महत्व से अवगत कराया। इसके अलावा, छात्रों ने ‘वर्ल्ड पार्लियामेन्ट’ के शानदार प्रदर्शन द्वारा उपस्थित दर्शकों का दिल जीत लिया।

विदित हो कि सी.आई.एस.वी. बाल शिविर के अन्तर्गत छात्रों ने दो दिनों तक साथ-साथ रहकर विश्व एकता, विश्व शान्ति एवं विश्व बन्धुत्व का प्रशिक्षण प्राप्त किया एवं ‘नेशनल प्रेजेन्ट्रेशन समारोह’ के साथ बाल शिविर का समापन हुआ।

इस अवसर पर अभिभावकों व छात्रों को सम्बोधित करते हुए सी.एम.एस. चौक कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती अदिति शर्मा ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम बच्चों के सर्वांगीण विकास में विशेष सहायक हैं। प्रत्येक बच्चा धरती का प्रकाश बन सकता है। इसके लिए जरूरी है कि उसे उद्देश्यपूर्ण शिक्षा मिले और एक स्नेहमयी वातावरण में उसका बहुमुखी विकास हो।

1 COMMENT

  1. Wow, this post is good, my younger sister is analyzing these kinds of things, thus I am going to tell her.
    I am sure this post has touched all the internet
    viewers, its really really pleasant paragraph on building up
    new website. I have been browsing on-line greater than three hours these days, yet I by
    no means discovered any fascinating article like yours.

    It is beautiful value enough for me. Personally, if all webmasters and bloggers made
    excellent content as you did, the web can be a lot more useful than ever before.
    http://plumbing.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here