बच्चे के जीवन में माता पिता एक वट बृक्ष की छांव की तरह होते हैं

0

fathers day Special, Sunday, 20 June 2021:

आज का दिन पूरी दुनिया फादर्स डे के रूप में मना रही है दरअसल फादर्स डे मनाने की शुरुआत वॉशिंगटन के स्पोकेन शहर में सोनोरा डॉड ने अपने पिता की स्मृति में इस दिन को मनाने की शुरुआत किया था इसके बाद वर्ष 1916 में अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने इस दिवस को मनाने के प्रस्ताव की विधिवत स्वीकृति प्रदान किया था। 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे अमेरिका में मनाया गया था।

हमारे जीवन में पिता एवं माता एक वट बृक्ष की छांव की तरह होते हैं। वैसे तो माता का अपने शिशु के जीवन मे प्रकृतिप्रदत्त गुणों के कारण सबसे अधिक जिम्मेदारीयों का निर्वाह करती है बच्चे को जब चिलचिलाती धूप सदृश जीवन की परेशानियां उसे घेरे सताती हैं उस वख्त एक पिता अपने बच्चे के प्रति एक वट बृक्ष की भांति शीतल छाव की अहसास कराते हैं।

हमारे जीवन मे पिता एक मित्र, रक्षक, पथ-प्रदर्शक एवं शुभचिंतक जैसे व्यक्ति हैं। जैसे मां हमें जीवन प्रदान करती हैं वैसे ही हमारे पिता हमें जिंदगी जीना सिखाते हैं। वे हमें जीवन की अनेको तरह की परेशानियों से बचाने के साथ-साथ उनसे लड़ना-संघर्ष करना भी सिखाते हैं। वैसे पिता का महत्व केवल कुछ ही शब्दों में व्यक्त करना असंभव है लेकिन हम उनके प्रति अपना प्रेम, सम्मान अवश्य प्रकट कर सकते हैं।

वैसे तो एक पिता अपने जीवन मे उनके बच्चों को अपने पैरों पर खड़ा हुआ देखकर बहुत खुश होते हैं मगर छोटी-छोटी खुशियां भी पिता और बच्चे के रिश्ते को आपस में गहन बना देती हैं। अपने पिता को इस दिन उल्लासित करने के लिए आप उन्हें कार्ड, गिफ्ट और फूल से सजा हुआ गुलदस्ता भेंट कर सकते हैं। इसके साथ ही आप अपने पिता के कमरे को सजा कर साफसुथरा सकते हैं, उनके लिए केक बना सकते हैं और उनके प्रिय व्यंजन तैयार कर सकते हैं। इन सबसे महत्वपूर्ण आप अपने पिता को धन्यवाद कहना मत भूलिये क्योंकि आज आप और हम उन्ही की वजह से समाज मे विद्यमान हैं।

  • प्रस्तुति: जी के चक्रवर्ती

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here