गायत्री मंत्र का जाप करते वक्त, रखें इन खास बातों का ध्यान…

0
600
  • गायत्री मंत्र भगवान सूर्य की उपासना के लिए सबसे आसान और फलदायी मंत्र कहा जाता है। इस मंत्र का जाप करने से स्वास्थ्य, यश, प्रसिद्धि, धन-दौलत तो मिलती ही है साथ ही इसका जाप करने से मन और वाणी भी पवित्र हो जाते हैं। इस मंत्र को पढ़ने से पहले कुछ बातों के बारे में पता होना जरूरी है। यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी ही बातों के बारें में-
  • गायत्री मंत्र को पढ़ते समय आप आरामदायक आसन पर ही बैठे।
  • मंत्र का जाप करने से पूर्व नहा-धोकर स्वच्छ कपड़े पहने।
  • गायत्री मंत्र का जाप करते हैं तो इसका जाप करने के समय का भी ध्यान होना बहुत जरूरी है। गायत्री मंत्र को सुबह, दोपहर और शाम के समय पढ़ सकते हैं। अगर इन तीनों समय पर आप इस मंत्र का जाप नहीं कर सकते हैं तो सुबह या शाम का एक मय निश्चित कर लें।
  • अगर माला से गायत्री मंत्र का जाप करना चाहते हैं तो 108 मनकों की माला को रखें। इसके लिए तुलसी की माला या चंदन की माला रखें।
  • गायत्री मंत्र को जल्दी-जल्दी नहीं पढ़ना चाहिए। दरअसल इसके महत्व को समझकर ही गायत्री मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।
  • यह जानकारियां धार्मिक आस्था और लौकिक मान्यता पर आधारित हैं, जिसे लोगों की जनरूचि को ध्यान में रखकर पेश किया गया है। मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।