प्रथमदेव संग गरबा-डाण्डिया की धूम

0
811

पुस्तक मेला समिति की ऑनलाइन गतिविधिया

लखनऊ, 21 अक्टूबर 2020: कथा-कहानियां, नृत्य, चित्र रचना, रंगोली जैसी विविध कलात्मक अभिव्यक्तियों से प्रतिभागियों ने अपना रचना संसार आभासीय माध्यमों में साझा किया। राष्ट्रीय पुस्तक मेला समिति और लखनऊ पुस्तक मेला समिति की ओर से संयुक्त रूप से दूसरे चरण के आयोजनों में आज पांचवें दिन प्रथम देव गणपति के स्तुतिगान के संग ऑनलाइन गरबा- डाण्डिया नृत्य की धूम रही। आज गणपति के विशेष पूजन के साथ गणपति स्तुतियों को महिलाओं ने गाया तो बच्चों ने नृत्य से ज्ञान-बुद्धि के देवता की अभ्यर्थना की।

कल के ऑनलाइन आयोजनों में कृष्ण भजन और गरबा-डाण्डिया नृत्य की प्रविष्टियों को कराया जायेगा। साथ ही राधा कृष्ण के रूप धारण करके प्रतिभागियों के फोटो-वीडियो आमंत्रित किये गये हैं।

आज देवी पूजन और गरबा के अलावा डाण्डिया नृत्य में पुरुषों ने भी बराबरी से महिलाओं का साथ दिया। पंचमी की शाम धीरे धीरे डाण्डिया का रंग भी चढने लगा है। अंजु अग्रवाल, वर्निका श्रीवास्तव ने डाण्डिया नृत्य के वीडियो भेजे। आकाशवाणी की ग्रेडेड गायिका लक्ष्मी जोशी ने लोकगीत- घर में पधारो गजानन….. मधुर स्वरों में गाया। डा.अपूर्वा अवस्थी ने पारम्परिक लोक शैली में कन्नौजी षैली में लोककथा सुनाई तो अंजु अग्रवाल ने गणेश आरती के साथ भोग भेजा।

इन आयोजनों में इन दिनो स्थानीय प्रतिभागियों के अलावा प्रदेष के अन्य जिलों के संग महाराष्ट्र, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, झारखण्ड आदि प्रदेशों से भी कलाप्रेमी गतिविधियों में प्रतिभाग कर रहे हैं। मुम्बई की अलका पाण्डेय ने अपनी रची कविता सुनाई। शिवन्या गुप्ता स्कंदमाता देवी स्वरूप में स्क्रीन पर अवतरित दिखाई दीं।

चन्दा ने गणेश कजरी प्रस्तुत की, अदिति ने वक्रतुण्ड महाकाय गणेश स्तुति गायी। अभिषेक राजपूत ने गणेश भजन- भक्तों की बिगड़ी बनाते है गौरी के लाल, अनुपम श्रीवास्तव ने मास्क लगाकर डाण्डिया करते हुए कोरोना काल में सावधानी बरतने का संदेश देता चित्र भेजा। सुषमा अग्रवाल, अर्चना गोस्वमी, शुभांक गोस्वमी, हरनूर कौर, आव्या सक्सेना, कृषिका सोनी, वृतिका सोनी, इशि रोहतगी, सरिता त्रिपाठी, आंशिका मिश्रा, षाम्भवी दुबे ने गणेश जन्म की कहानी लिखी या बोलकर भेजी। फरीदाबाद की संगीता श्रीवास्तव ने सुंदर चित्र बना कर भेजा।

राष्ट्रीय पुस्तक मेला समिति और लखनऊ पुस्तक की इन प्रतियोगिताओं में पांच से 10 वर्ष, 11 से 15 वर्ष व 16 से 20 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों के संग ही हर आयुवर्ग की महिलाओं का महिला -पुरुष वर्ग को भी शामिल किया गया है। प्रतियोगी प्रतियोगिताओं के बारे में मोबाइल नम्बर- 9415910781 में जानकारी ले सकते हैं। प्रतिभागियों को अपनी क्लिप फंक आर्ट बाई हार्ट या स्टूडेण्ट आर्ट बाई हार्ट फेसबुक पेज पर शेयर कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here