कोरोना काल में गरीबों को भूखा नहीं सोने देते ये युवा, घर-घर जाकर बाँट रहे हाथ का बना भोजन

0

भोपाल, 06 जून, 2021: कोरोना काल में लोगों का रोजगार छिना लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया लेकिन इस विषम परिस्थितियों में भी दयावान हाथों ने गरीबों का साथ नहीं छोड़ा हैं। उन्हें परस्पर खाना मुहैया करवाया।

बता दें कि भोपाल शहर में कोरोना कर्फ्यू के चलते गरीब तबके के मजदूरों को कहीं काम नहीं मिल रहा इसलिए वह रोजी रोटी की आस में यहां वहां भटक रहे हैं, ऐसे लोगों की मदद करने के लिए शहर के युवा सामने आए हैं।

माँ अन्नपूर्णा रसोई के माध्यम से नियमित रूप से पांच सौ से अधिक पैकेटों का निर्माण किया जा रहा है। गरीब तबके के लोगों को डोर टू डोर भोजन के पैकेट प्रदान किए जा रहे हैं। यह युवा आपस में राशि एकत्रित कर भोजन के पैकेट तैयार कर रहे हैं तथा जिन लोगों को भोजन की अत्यधिक आवश्यकता है उन लोगों में भोजन के पैकेट वितरित कर रहे हैं।

मालूम हो कि इस दल में तकरीबन आधा दर्जन युवा सम्मिलित हैं। जो स्वयं चंदा एकत्र कर प्रतिदिन सुबह-शाम लगभग 500 से अधिक भोजन के पैकेट तैयार करते हैं। इसके अलावा लॉकडाउन के कारण जिन लोगों के रोजगार प्रभावित हुए हैं और आर्थिक समस्याएं झेल रहे हैं, ऐसे सैकड़ों जरूरतमंद परिवारों में सूखे राशन की किट जिसमें आटा, दाल, चावल, नमक, चीनी, तेल, सभी मसाले, सब्जी आदि सहित एक किट का वितरण भी कर रहे हैं। इस सेवा कार्य में मुख्य रूप से केशव त्रिवेदी, अंकुल चौधरी, सचिन सिंह, प्रवीन शर्मा, मनीष भट्ट, अखिलेश कुमार, सुमित नायल, दुष्यंत, हिमांशु नेगी आदि युवा कार्यकर्ता सम्मिलित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here