महिला विज्ञान कांग्रेस के शुभारंभ पर बोली स्मृति ईरानी: लिंगभेद तो घर से ही शुरू हो जाता है जब माता-पिता बेटी को गुड़िया खरीद कर देते हैं

0
239
  • महिला विज्ञान कांग्रेस का शुभारंभ: केंद्रीय वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ने किया उद्घाटन
  • पूरे देश की प्रमुख महिला वैज्ञानिकों का सम्मेलन है महिला विज्ञान कांग्रेस

फगवाड़ा, जनवरी 06, 2019: लवली प्रोफेशनल युनिवर्सीटी में जारी 106वें भारतीय विज्ञान कांग्रेस के तहत आयोजित महिला विज्ञान कांग्रेस का माननीय केंद्रीय वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ने उद्घाटन किया।
2012 में शुरू महिला विज्ञान कांग्रेस का यह आठवां आयोजन है। महिला विज्ञान कांग्रेस का मकसद महिला वैज्ञानिकों के कार्यों को दुनिया के सामने रखना है। इस सम्मेलन में कई विशिष्ट महिला वैज्ञानिकों और अन्य विषयों की जानकार महिलाओं ने विभिन्न वार्ताओं और विमर्शों में भाग लिए।

महिला विज्ञान कांग्रेस के उद्घाटन के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि विज्ञान जगत में महिला वैज्ञानिक गंभीर चुनौतियों का सामना कर रही हैं। ‘‘भारत के शोध संस्थानों में कार्यरत कुल 2.8 लाख लोगों में केवल 14 प्रतिशत वैज्ञानिक और इंजीनियर महिलाएं हैं। यह इस क्षेत्र के आज भी पुरुष प्रधान होने का प्रमाण है,’’ उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा। ‘‘लिंगभेद तो घर से ही शुरू हो जाता है जब माता-पिता बेटी को गुड़िया खरीद कर देते हैं जबकि लड़कों को खिलौना कार या लीगो सेट लेकर देते हैं,’’ उन्होंने यह कहते हुए महिलाओं से अपील की कि इस दाकियानूसी सोच से बाहर आएं।

उन्होंने कहा कि आज भी अधिकांश भारतीय वैज्ञानिक पत्रिकाएं या सामग्रियां अंग्रेजी भाषा में आती हैं और ग्रामीण भारत के अधिकांश विद्यार्थी अंग्रेजी भाषा में अभ्यस्त नहीं होते इसलिए श्रीमती इरानी ने भारतीय विज्ञान कांग्रेस के आयोजक भारतीय विज्ञान कांग्रेस संघ से आग्रह किया कि विज्ञान की पत्रिकाओं का भारतीय भाषाओं में भी प्रकाशन करें ताकि ग्रामीण विद्यार्थियों में विज्ञान के प्रति नए उत्साह का संचार हो।

भारतीय विज्ञान कांग्रेस का आयोजन करने वाली लवली प्रोफेशनल युनिवर्सीटी के चांस्लर श्री अशोक मित्तल ने कहा कि उनकी युनिवर्सीटी ने महिला-पुरुष भेदभाव कम करने के लिए स्टाफ में 50 प्रतिशत से अधिक महिलाओं को जगह दी है। ‘‘हमारी युनिवर्सीटी की वरिष्ठ प्रबंधन टीम में अधिकांश का प्रतिनिधित्व महिलाएं करती हैं,’’ उन्होंने बताया।

इस अवसर पर विभिन्न विषयों पर व्याख्यान देने वाली महिलाओं में खास तौर से उल्लेखनीय नाम हैं – विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में वैज्ञानिक डाॅ. नमीता गुप्ता, बिल एण्ड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की डाॅ. पूर्वी मेहता, इन्फोसिस की सुश्री सुजा वारियर, स्टेट युनिवर्सीटी (न्यूयाॅर्क) की डाॅ. शकंुतला दास।

महिला विज्ञान कांग्रेस के उद्घाटन से पूर्व श्रीमती इरानी ने लवली प्रोफेशनल युनिवर्सीटी के गेट पर 55 फुट ऊंचा रोबोट स्ट्रक्चर ‘मेटल मैग्ना’ का अनावरण भी किया। यह रोबोट स्ट्रक्चर 25 टन स्टील से बना है और इसे तैयार करने में लवली प्रोफेशनल युनिवर्सीटी के मैकेनिकल और सिविल इंजीनियरिंग विभागों के 50 विद्यार्थियों को 2 महीनों का समय लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here