बाधाओं का मुकाबला कर रहे हैं योगी

0
245
  • डॉ दिलीप अग्निहोत्री

आपदा में पीड़ितों को राहत देना मुश्किल होता है। इसके लिए स्वयं कष्ट उठाना पड़ता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उनकी पूरी सहयोगी टीम, डॉक्टर, नर्स, पुलिस और अनेक सामाजिक संस्थान यह कार्य कर रही है। यह सभी लोग स्वयं जोखिम उठाकर जरूरतमंदों की सहायता कर रहे है। इसके विपरीत आपदा को बढ़ाना, दूसरों के कष्ट बढ़ाना बहुत आसान होता है। तब्लीगी जमात ने यह कर दिखाया। उनकी वजह से पन्द्रह जिले पूरी तरह सील करने की नौबत आई है। जबकि योगी आदित्यनाथ कोरोना को पराजित करने की दिशा में सफलता को ओर बढ़ रहे थे। वह चौदह अप्रैल को लॉक डाउन हटाने पर उंन्होने विचार भी शुरू कर दिया था। इसके लिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से वार्ता भी की थी। योजना थी कि लॉक डाउन हटने के बाद लोग एकदम सड़कों पर न निकलें, इससे समस्या बढ़ेगी। लेकिन सफलता की इस राह में जमात अवरोधक बन गया।

इसमें कोई संदेह नहीं कि योगी आदित्यनाथ ने कोरोना आपदा के मद्देनजर प्रभावी कार्ययोजना पर अमल किया। इसकी प्रशंसा राष्ट्रीय स्तर पर हुई है। उन्होने इस पूरी अवधि में अपनी कोई चिंता नहीं की,जोखिम उठाते हुए वह दिनरात कार्य करते है। उन्होने कोरोना के इलाज और बचाव दोनों मोर्चों पर यद्ध स्तर का प्रबंधन किया। इसके सकारात्मक परिणाम दिखाई देने लगा था।

योगी ने इसके लिए चिंता भी जाहिर की थी। लेकिन उनके आतविश्वास में कोई कमी नहीं थी।उन्होने गत दिवस बताया था कि प्रदेश में तीन सौ चौदह कोरोना पाॅजिटिव केस हैं, जिनमें से एक सौ अड़सठ केसेज तब्लीगी जमात के हैं। इनकी वजह से पिछले चार दिनों में प्रदेश में कोरोना पाॅजिटिव केसों की संख्या बढ़ी है। तब्लीगी जमात से उत्तर प्रदेश लौटने वालों का लगातार पता लगाकर उन्हें क्वाॅरण्टीन किया जा रहा है। राज्य सरकार सबकी सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के लिए निरन्तर सजग होकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पच्चीस कोरोना पाॅजिटिव लोग स्वस्थ भी हुए हैं।

प्रदेश के पन्द्रह जिले पूरी तरह सील किये गए है।।लखनऊ, शामली, मेरठ, वाराणसी,सीतापुर, आगरा, ग़ज़ियाबाद, बुलन्दशहर, कानपुर, गौतमबुद्धनगर, सहारनपुर, बरेली, फ़िरोज़ाबाद, बस्ती, महराजगंज की स्थिति को देखते हुए इन्हें सील किया गया है। मीडिया को भी उन कुछ हिस्सों में नही जाने दिया जायेगा जहॉ कोरोना पॉज़िटिव है। अति आवश्यक सेवाओं के कुछ पास छोड़कर सारे मूवमेंट एकदम किये बन्द किये गए है। लॉक डाउन का अब पूरी तरह कड़ाई से पालन कड़ाई से पालन होगा। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि पंद्रह ज़िलों के हॉट स्पॉट को सील किया गया है। लोगों हर हालत में बाहर निकलने से रोका जायेगा। यह पंद्रह अप्रैल तक के लिये किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here