गोरखपुर कभी नहीं छोड़ूंगा, निपाह के लिए जा रहा हूं केरल: डॉ.कफील

0
329

निपाह से पीड़ित मरीजों की सेवा करने जा रहा हूं

गोरखपुर, 23 मई। यूपी में सीएम योगी के गृह जिले गोरखपुर के बीआरडी कांड से चर्चा में आए डॉ. कफील अब केरल में जाकर निपाह वायरस से पीड़ित मरीजों का इलाज करने वाले है। केरल के मुख्यमंत्री पी.विजयन ने उन्हें मदद के लिए आमंत्रित किया है। इस खबर के बाद सस्पेंडेड डॉ.कफील के उत्तर प्रदेश छोड़ने की बात सामने आ रही थी। हालांकि,इन खबरों के बीच डॉ. कफील ने यूपी छोड़ने की बात नकारी है। डॉ.कफील ने कहा कि जब उन्हें पता चला कि केरल में निपाह वायरस की चपेट में आने से नर्स सहित दस लोगों की मौत हो गई है तो वह चिंतित हो गए।

उन्होंने वहां जाकर मरीजों का इलाज करने का एक प्रस्ताव रखा जो वहां के सीएम को अच्छा लगा। इसके लिए वह केरल स्वास्थ्य सेवा के निदेशक और कालीकट मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक से संपर्क कर सकते हैं। डॉ. कफील ने कहा कि कालीकट मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक उन्हें शाम तक पत्र भेज देगा। डॉ.कफील ने कहा कि उन्हें गोरखपुर में ऑक्सिजन कांड के बाद सस्पेंड किया गया था। अभी तक उन्हें बहाल नहीं किया गया है। उन्होंने वहां अस्पताल से संपर्क किया है। वह केरल जा रहे हैं। डॉ.कफील ने कहा कि केरल जाने का मतलब यह नहीं है कि वह गोरखपुर छोड़कर जा रहे हैं। केरल में मरीजों की मदद के बाद वह वापस यहां आ जाएंगे।

केरल सरकार स्वागत करती है: सीएम पी विजयन

Image result for सीएम पी विजयन गोरखपुर में रह रहे डॉक्टर कफील खान बीआरडी ऑक्सीजन केस में करीब आठ महीने तक जेल में रहें। हाल में ही जेल से जमानत पर बाहर आने के बाद उन्होंने समाजसेवा की तरफ भी अपना रुख किया। इसी बीच केरल के कोझिकोड में घातक निपाह वायरस से हो रही मौतों की जानकारी हुई। इस पर उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से केरल सरकार का ध्यान अपनी तरफ खींचा।

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि वह निपाह वायरस से जूझ रहे मरीजों के इलाज के लिए कालीकट मेडिकल कॉलेज में काम करना चाहते हैं। इसके लिए डॉ.कफील खान ने केरल के सीएम से पिनराई विजयन से इजाजत भी मांगी। डॉ कफील की अपील के चंद घंटों के बाद केरल के सीएम पी विजयन की तरफ से सोशल मीडिया पर लिखा गया कि डॉ.कफील यहां आकर काम करे,तो राज्य सरकार को बहुत खुश होगी। यहां खतरे के बावजूद कई डॉक्टर अपनी सेवाएं देना चाहते हैं,जिसमें डॉ.कफील भी शामिल हैं। केरल सरकार उनका स्वागत करती है। इसके साथ ही सीएम की तरफ से लिखा गया कि मेडिकल सेवा से जुड़े और लोग भी निपाह वायरस से पीड़ित मरीजों की मदद करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here