किसी भी सरकारी योजना में यदि कोई रिश्वत की मांग करे तो प्रमाण के साथ शिकायत करें

0
611

भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध अवश्य ही कठोर कार्यवाही होगी

लखनऊ 18 अक्टूबर, 2017: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी आज जनपद देवरिया के पथरदेवा में आचार्य नरेन्द्र देव इण्टर कालेज में स्व. श्री रवीन्द्र किशोर शाही की 35वीं पुण्यतिथि पर आयोजित किसान सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए। इस अवसर पर उन्होंने स्व. श्री शाही के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किए तथा विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रतीक के रुप में चेक और स्वीकृति पत्र का वितरण भी किया।
अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि श्री शाही सदैव किसानों, गरीबों के उत्थान के लिये संघर्षशील रहे। शाही जी जैसे राष्ट्रवादी सोच के मनीषीयों के विचारों को ध्यान में रखकर यह सरकार गरीबों, किसानों, नौजवानों, महिलाओं आदि के हितों के लिए बिना किसी भेदभाव के कार्य कर रही है। सरकार बनने के कुछ ही दिन बाद प्रदेश के 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया गया। इतने कम समय में किसानों का कर्ज माफ करने वाली यह पहली सरकार है। गेहूं क्रय केन्द्रों के माध्यम से 37 लाख मैटिक टन गेहूं क्रय किया गया तथा उसका भुगतान भी कृषकों को कर दिया गया। खरीफ फसल के तहत धान की भी खरीदारी इसी तरह से की जायेगी तथा समर्थन मूल्य के साथ-साथ कृषकों को 15 रुपये प्रति कुन्तल अतिरिक्त धनराशि दी जाएगी।
योगी जी ने कहा कि राज्य सरकार चीनी मिलों को बन्द करने का नहीं बल्कि उन्हें चालू करने का कार्य कर रही है। पिपराइच, मुन्डेरवा एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तीन चीनी मिलों का पुनर्निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 35 लाख गरीबों का राशन कार्ड बनवाया गया है। खाद्यान्न माफिया पर नकेल कसने के लिये सभी राशन कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ा जा रहा है। साथ ही, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ई-मशीन स्थापित कर उसके माध्यम से खाद्यान्न दिलाये जाने का निर्णय लिया गया है। शहरी क्षेत्र में यह पूरी तरह लागू कर दिया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में राशन कार्ड का सत्यापन कराया जा रहा है। सभी को राशन दिलाया जायेगा, इसमें कोई भेदभाव नही होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि किसी भी सरकारी योजना में यदि कोई रिश्वत की मांग करे तो तथ्यात्मक प्रमाण के साथ शिकायत करें। ऐसे दोषियों से धनराशि वापस कराने के साथ ही उसे जेल भेजा जायेगा तथा उसके सम्पति को गरीबों में बाँटने का कार्य किया जायेगा। प्रदेश को किसी भी दशा में लूट-खसोट का शिकार नहीं होने दिया जाएगा। भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध अवश्य ही कठोर कार्यवाही होगी। प्रदेश में कानून एवं राष्ट्रीय सुरक्षा को चुनौती देने वालो को कतई बख्शा नहीं जायेगा।
योगी जी ने कहा कि यह सरकार पारदर्शी एवं ईमानदारी से बिना किसी भेदभाव के कार्य कर रही है। प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को पहली बार दो-दो सेट अच्छी यूनिफार्म, बैग, किताबें, जूता, मोजा आदि देने का कार्य किया गया है। सर्दियों में प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले एक करोड 53 लाख बच्चों को स्वेटर भी देने का कार्य करने जा रहे हैं। पूर्व में छात्रवृत्ति वितरण में भी भेदभाव किया जाता रहा है, जिसे वर्तमान सरकार ने खत्म कर सभी छात्रों के खाते में छात्रवृत्ति भिजवाने की व्यवस्था की है। उन्हांेने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के साथ ही कौशल विकास व आईटीआई के विकास के कार्य जनपद में कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पथरदेवा के विकास के बारे में कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा जो प्रस्ताव किया गया है उसे एक-एक कर पूरा करने का कार्य किया जायेगा।
मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को चेक एवं स्वीकृति पत्र वितरित किए। फसल ऋण मोचन योजना में स्वीकृति पत्र प्राप्त करने वालो में महिमा सिंह, रामअवतार सिंह, दीप नारायण, मैना देवी, चन्दन राय, सबमिशन फर्म योजना में मनोज कुमार, प्रभुनाथ तिवारी कृषि स्थल आवंटन में दुर्गावती, राधिका देवी, आवास स्थल में राम चरित, प्रशिक्षित कृषि उन्नयन योजना में वरुण शाही, निवेदिता चैरसिया, कुम्हारी कला में श्रीकान्त, मत्स्य पालन एवं दीनदयाल अन्त्योदय योजना में इन्दु देवी, शोभादेवी, अनिता देवी, आरती देवी आदि को मुख्यमंत्री जी ने अपने कर-कमलों से स्वीकृति पत्र/चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री जी ने सभी को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई देते हुए उनकी सुख समृद्धि की कामना की।
योगी जी द्वारा जनसंघ के जिन वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया गया उनमें देवी प्रसाद सिंह, रामआधार गुप्ता, डा. भारतेन्दु राव, सत्य नारायण यादव, कालिका राय, साहबजादा पाण्डेय, शिवमुनि, मुख्तार राय, गणेश मणि त्रिपाठी, भृगूनाथ पाण्डेय, स्वामीनाथ पाण्डेय, चन्द्र बली यादव, दयाशंकर शास्त्री, आदि शामिल है।
कार्यक्रम को कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही, मत्स्य पालन राज्य मंत्री श्री जयप्रकाश निषाद, श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य, सांसद श्री भरत सिंह, विधायक श्री सुरेश तिवारी, श्री काली प्रसाद, श्री जन्मेजय सिंह, पूर्व सांसद श्री देवी प्रसाद सिंह, सांसद श्री रवीन्द्र कुशवाहा आदि ने भी सम्बोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here