राजस्थान: शब-ए-कद्र के मौके पर अकीदतमंदों ने इबादत में रात गुजारी

0
913
राजस्थान से दिलीप रॉय शर्मा
दरगाह सहित अजमेर शहर की अनेक मस्जिदों में हाफिजों और इमाम हजरात  को पेश किये गए नज़राने
राजस्थान, अजमेर:जुमेरात को शब-ए -कद्र के अवसर पर ख्वाजा साहब की दरगाह समेत शहर की विभिन्न मस्जिदों में अकीदतमंदों ने पूरी रात खुदा की इबादत में गुजारी | दरगाह स्थित शाहजहाँनी मस्जिद सहित शहर की सभी मस्जिदों में गुरुवार की रात को कुरानशरीफ का दौर मुकम्मल होने पर हाफिजों और इमाम हजरात को नजराने पेश किये गए और गुलपोशी कर इस्तकबाल किया गया |
जुमातुल विदा के मौके पर रमजान के आखिरी जुमे की नमाज़ अदा करते अकीदतमंद ,फोटो -दिलीप राय 
दरगाह में जुमेरात को 26वां रोजा तथा 27 वीं शब को देखते हुए अकीदतमंदों की खासी भीड़ रही ,यही हाल कमोबेश शहर की दूसरी तमाम मस्जिदों का भी था ,जहां पर इस मौके पर अकीदतमंदों की ज्यादा भीड़ दिखी|
दरगाह की शाहजहाँनी मस्जिद ,अकबरी मस्जिद,तथा संदलखाना सहित शहर की सभी मस्जिदों में तरावीह की नमाज़ में पढ़ा जा रहा कुरानशरीफ का दौर मुकम्मल हुआ ,फातिहा के बाद तबर्रुक वितरित किया गया | इसके बाद हाफिज़ और इमाम हज़रात की गुलपोशी की गयी|ख्वाजा साहब की दरगाह में ,अंजुमन सैयदजादगान,दरगाह कमेटी और अंजुमन शेखजादगान की तरफ से इमाम और हाफिज साहिबान को नजराने पेश करने के साथ ही, गुलपोशी व दस्तारबंदी कर उनका इस्तकबाल किया गया| तरावीह की नमाज़ में भी बड़ी तादाद में अकीदतमंद शरीक हुए| इस मौके पर शहर के विभिन्न  इलाकों में स्थित मस्जिदों की व्यस्था समितियों ने भी अपने स्तर पर हाफिजों और इमामों को नजराने पेश किये| दरगाह में भी रोजेदारों के लिए विभिन्न दालान में सेहरी का इंतजाम कर सेहरी कराई गयी |
मासूम रोजेदारों की हौंसला अफजाई की
खादिम मोहल्ला सहित शहर के अनेक क्षेत्रों में बहुत से मासूम बच्चों ने भी जिन्दगी के पहले रोजे की शुरुआत की ,जिस पर मासूमों के रिश्तेदारों और परिजनों ने उनकी गुलपोशी कर मुबारकबाद दी और तोहफे पेश कर हौंसला अफजाई की |
जुमातुल विदा आज
रमजान माह का आखिरी जुमा होने के कारण आज मुख्य नमाज़ दरगाह परिसर में स्थित  शाहजहाँनी मस्जिद में शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी की इमामत में अदा की जायगी |इसके लिए माकूल इंतजाम किये गये हैं |जबकि शहर की अन्य मस्जिदों में भी जुमे की नमाज़ अदा की जायगी |
चाँद दिखने पर जश्ने इस्तकबाल 26 या 27 जून को
अंजुमन मोहिब्बाने अहलेबैत” के जानिब से चाँद दिखाई देने पर 26 अथ्वा 27 जून को जश्ने इस्तकबाल का आयोजन किया जायगा | इस संस्था की ओर से एतकाफ में बैठे इबादतगुजारों का स्वागत किया जायगा |संस्था के सदर मो.अहसान मिर्जा ने बताया की ख्वाजा साहब की दरगाह स्थित शाहजहाँनी और अकबरी मस्जिद समेत शहर की अनेक मस्जिदों में रमजान के तीसरे अशरे की शुरुआत अर्थात 16 जून से इबादतगुजार एतकाफ में बैठे हैं |इन सभी इबादतगुजारों का ईद का चाँद दिखाई देने पर ‘अंजुमन मोहिब्बाने अहलेबैत’संस्था  की जानिब से इस्तकबाल किया जायगा |