बीबीएयू में डिप्टी रजिस्ट्रार की नियुक्ति में भी फर्जीवाड़ा

0
762
  • डिप्टी रजिस्टार बने राजीव कुमार साहू पर लगे नौकरी में गलत डॉक्यूमेंट लगाने के आरोप
  • कॉट्रैक्ट नौकरी के कागज को दिखाया परमानेंट, बोले लोग गलत आरोप लगा रहे हैं

लखनऊ, 12 जून। बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ में रोज आये दिन नए- नए खुलासे हो रहे हैं। अभी कुलपति द्वारा दोहरा वेतन लेने का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि अब वित्त अधिकारी की नियुक्ति में फर्जीवाड़ा का मामला सामने आया है।

जानकारी के लिए बता दें कि इस मामले का खुलासा आरटीआई कार्यकर्ता हरिहर प्रसाद दीक्षित ने एक सूचना के आधार पर किया जिसमें उन्होंने बताया कि अख़बारों के माध्यम से मुझे इस मामले की अपुष्ट खबरे मिल रही थी जिसमें मैंने आरटीआई के माध्यम से सूचना मांगी तो इस नियुक्ति के फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया। उन्होंने बताया कि सूचना में मुझे विवि के नये डिप्टी रजिस्ट्रार की नियुक्ति में अस्थाई नौकरी के पेपर को स्थायी नौकरी दिखाकर विवि में ज्वाइन करने की बात सामने आ गयी।

उन्होंने बताया कि अख़बारों के माध्यम से मुझे शुरआत में ही इस नियुक्ति में कुछ काला लगा, तो उन्होंने इस मामले कि जानकारी जुटानी शुरू की जिसमें कई तथ्य गलत सामने खुलकर आये। उन्होंने कहा कि मैंने इस मामले कि जानकारी दोबारा कानपुर यूनिवर्सिटी से मांगी है जिसका जवाब शीघ्र ही आने वाला है और इस मामले में फिर से बड़ा खुलासा हो सकता है।

बताया जाता है कि रंजीव कुमार साहू ने बीबीएयू में डिप्टी रजिस्ट्रार के पद के लिए अपने अनुभव (experience) के तौर पर कानपुर विवि में अपनी जॉब को परमानेंट जॉब के आधार पर आवेदन किया था जिसमे उनके पेपर बगैर जांच किये उनका चयन भी हो गया। जबकि कानपुर विवि में वह कॉन्ट्रैक्ट आधार पर जॉब पर थे। जो सेल्फ फाइनेंस विभाग में कार्य पर थे।

आरटीआई के माध्यम से मिली सूचना से पता चला कि विवि के नये डिप्टी रजिस्ट्रार के पद पर आसीन रंजीव कुमार साहू ने डिप्टी रजिस्ट्रार के पद पर गलत डॉक्यूमेंट लगाकर नियुक्ति पाई है। जो विवि के नियम विरुद्ध है।

रंजीव कुमार साहू बोलें:

सब गलत आरोप लगा रहे है मैंने कोई गलत डॉक्यूमेंट नहीं लगाएं हैं यह सब मुझे फंसने कि साजिश हो रही है। जब उनसे पूछा गया कि ऐसे कौन लोग हैं जो आपको फंसाने की साजिश कर रहे हैं और उन्हें क्या लाभ, तो वे बोलें सब गलत है और यह मेर खिलाफ षड़यंत्र है मैंने कोई गलत डॉक्यूमेंट नहीं लगाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here