भारत में ओलंपिक मूवमेंट की प्रगति से ओसीए प्रसन्नः आनन्देश्वर पाण्डेय

0
559
ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया (ओसीए) की 37वीं सामान्य सभा बैठक आयोजित
लखनऊ, 19 अगस्त 2018: एशिया में ओलंपिक मूवमेंट को मजबूत करने और ओलंपिक स्पोर्ट्स में देशों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने के मुद्दे के साथ ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया (ओसीए) की 37वीं सामान्य सभा की बैठक आज रविवार 19 अगस्त को जकार्ता में हुई।
इस बैठक में इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (आईओए) के कोषाध्यक्ष आनन्देश्वर पाण्डेय, अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और महासचिव राजीव मेहता ने भारत का प्रतिनिधत्व करते हुए भारत में खेलों के ढांचे पर प्रकाश डाला।
श्री आनंदेश्वर पांडेय ने प्रसन्नता वयक्त करते हुये बताया कि ओसीए के अध्यक्ष शेख अहमद अल-फहाद अल-सबाह भारत में ओलंपिक मूवमेंट के लिए किए जा रहे प्रयासों से बहुत खुश थे।
ओसीए अध्यक्ष शेख अहमद अल-फहाद अल-सबाह ने इस दौरान इंडोनेशिया की एशियाई खेलों के लिए तैयारियों को सराहा। उन्होंने एशियन गेम्स के आयोजन की तैयारी के लिए सभी हितधारकों को सराहा और उम्मीद जताई कि इन खेलों का आयोजन काफी सफल सिद्ध होगा।
इसी के साथ चीन के हांगजाऊ में सन 2022 में होने वाले 19वें एशियन गेम्स की रूपरेखा और तैयारियोंपर आयोजन समिति ने अपनी रिपोर्ट रखी जिस पर ओसीए ने विचार-विमर्श किया।
वहीं चीन के ही सान्या में होने वाले एशियन बीच गेम्स की आयोजन समिति ने तैयारियों को लेकर एक प्रेजेंटेशन काउंसिल के सामने दिया।
इस दौरान 20वें आईची-नागोया एशियन गेम्स-2020 की आयोजन समिति की प्रगति रिपोर्ट के साथ उक्त तीनों खेलों के लिए होस्ट सिटी कांटेªक्ट पर भी हस्ताक्षर हुए।
वहीं टोक्यो ओलंपिक गेम्स-2020 की आयोजन समिति और बीजिंग विंटर ओलंपिक गेम्स-2022 की आयोजन समिति ने अपनी तैयारियों को लेकर एक प्रेजेंटेशन भी दिया।
इसी के साथ ओसीए मेरिट अवार्ड और शेख फहद हिरोशिमा एशिया पफंड स्पोर्ट्स साइंस अवार्ड के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया।
इस दौरान एशिया की विभिन्न जोनल कमेटियों-ईस्ट एशिया, साउथ ईस्ट एशिया, साउथ एशिया, सेंट्रल एशिया और वेस्ट एशिया ने अपने-अपने जोन की रिपोर्ट भी प्रस्तुत की।
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here