उत्तर प्रदेश को मिला एक और टाइगर रिजर्व, रानीपुर मिलाकर हुए चार

0
1769

भारत का बना 53वां रिजर्व, 529.36 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है जंगल, चित्रकूट के रानीपुर में यह रिजर्व

उत्तर प्रदेश में एक और टाइगर रिजर्व बन गया है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने सोमवार को ट्वीट से इसकी जानकारी दी। उन्होंने टाइगर रिजर्व की खूबियां भी बताई और कहा कि उत्तर प्रदेश में रानीपुर टाइगर रिजर्व भारत का 53वां बाघ रिजर्व बन गया है। चित्रकूट जिले के रानीपुर में यह रिजर्व स्थित है।

बता दें कि यूपी में दुधवा, पीलीभीत और अमनगढ़ के बाद राज्य में चौथा यह टाइगर रिजर्व है। केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट में कहा कि सभी को बधाई! यह सूचित करते हुए खुशी हो रही है कि उत्तर प्रदेश में रानीपुर टाइगर रिजर्व भारत का 53वां बाघ रिजर्व बन गया है।

उन्होंने इसकी खूबियां बताते हुए लिखा कि 529.36 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला 230.32 वर्ग किमी कोर क्षेत्र और 299.05 वर्ग किमी बफर क्षेत्र वाला नया टाइगर रिजर्व बाघ संरक्षण की कोशिशों को मजबूत करेगा। उप्र के बुंदेलखंड क्षेत्र में स्थित रानीपुर टाइगर रिजर्व मध्य प्रदेश स्थित पन्ना टाइगर रिजर्व से महज 150 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।

रानीपुर टाइगर रिजर्व में बाघ, तेंदुआ, भालू, सांभर, चित्तीदार हिरण, चिंकारा और कई पक्षी और सरीसृप पाए जाते हैं। भारत में बाघों की हालिया गिनती 2018 में की गई थी। इसके मुताबिक देश में 2967 बाघ हैं और इनमें से 173 उत्तर प्रदेश में हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में पिछले महीने रानीपुर टाइगर रिजर्व को विकसित करने की मंजूरी मिली थी। बताया गया था कि केन-बेतवा लिंक परियोजना के फलस्वरूप मध्य प्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में जलभराव होने के कारण यहां के बाघ चित्रकूट की ओर आएंगे।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here