स्वास्थ्य केन्द्रों का सुदृढ़ीकरण

0

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना से बचाव व उपचार में स्थानीय स्वास्थ्य केंद्रों व निगरानी समितियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। प्रदेश में इस समय बहत्तर हजार से अधिक निगरानी समितियां सक्रिय है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इन सभी को कोरोना बचाव के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई। इसी प्रकार योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य केंद्रों के कायाकल्प का अभियान शुरू किया है। इसके दृष्टिगत सरकार अनेक कदम उठा रही है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सभी जन प्रतिनिधियों से एक एक स्वास्थ्य केंद्र को गोद लेने का आह्वान किया था। इसके सकारात्मक परिणाम मिल रहे है।

योगी आदित्यनाथ ने सभी सामुदायिक,प्राथमिक एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों तथा हेल्थ एवं वेलनेस सेण्टर के सुदृढ़ीकरण कार्य तेज करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एक अधिकारी नामित कर इस कार्य की प्रगति की नियमित समीक्षा की जाए। नगर निकायों में स्थित सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के सम्पर्क मार्ग के सुदृढ़ीकरण का कार्य नगर विकास विभाग द्वारा कराया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्वास्थ्य केन्द्रों के सम्पर्क मार्ग के सुदृढ़ीकरण का कार्य ग्राम्य विकास विभाग और पंचायती राज विभाग द्वारा कराया जाए।

योगी आदित्यनाथ ने स्वयं इस दिशा में पहल की। उन्होंने गोरखपुर में सीएचसी जंगल कौड़िया का निरीक्षण किया। इस सीएचसी को मुख्यमंत्री ने गोद लिया है। उन्होंने अधिकारियों से सीएचसी में तैनात चिकित्सकों,लेबर रूम, ओपीडी आदि के बारे में जानकारी ली। कहा कि सीएचसी पर डॉक्टर रात में जरूर उपलब्ध रहें। यहां आने वाले मरीजों का इलाज सेवा भावना से होना चाहिए। गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी लहर को बेअसर करने के लिए सरकार संकल्पित भाव से कार्य कर रही है। प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करें कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों सीएचसी पर सभी आवश्यक चिकित्सकीय संसाधनों का इंतजाम रहे। नियमित ओपीडी चले और चिकित्सक नियमित रात्रि प्रवास करें।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि टीकाकरण की व्यवस्था लोगों के घर या दफ्तर के नजदीक ही करे। पिछले महीने विभिन्न जनपदों की यात्रा के दौरान योगी गोरखपुर भी आये थे। यहां उन्होंने इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एन्ड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया था। इसके बाद स्पोर्ट्स कॉलेज में बन रहे डेडिकेटेड कोविड अस्पताल का भी जायजा लिया था। मुख्यमंत्री योगी तब आदित्यनाथ ने कहा था कि कोरोना संक्रमितों को समुचित चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने को प्रदेश सरकार दृढ़ संकल्पित है। अधिकारी उन सभी स्थानों को चिन्हित करें जहां कोविड अस्पताल बनाए जा सकते हैं। हर स्थान पर सभी आवश्यक संसाधन युक्त ढाई सौ बेड के अस्पताल का लक्ष्य लेकर तैयारियों को जल्द से जल्द पूरा करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here