पर्यटन व फ़िल्म शूटिंग को प्रोत्साहन

0
243

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास का प्रयास कर रहे है। पर्यटन व तीर्थाटन की दिशा में अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए है। इस क्षेत्र में पिछले ढाई वर्षों में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश के अनेक स्थान प्राकृतिक और ऐतिहासिक धरोहर की दृष्टि बहुत समृद्ध है। सरकार का पहले से प्रयास रहा है कि इन स्थानों पर फिल्मों की शूटिंग हेतु पर्याप्त सुविधा है। सरकार इसके मद्देनजर अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराएगी। इससे इन स्थानों पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार का भी सृजन होगा।

इस संबन्ध में प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता गोविंदा ने गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। योगी ने बताया कि गोरखपुर के रामगढ़ सहित अनेक स्थलों का पर्यटन की दृष्टि से सुंदरीकरण किया गया है। योगी ने गोविंदा को भव्य दिव्य प्रयागराज कुम्भ की भी जानकारी थी। इस संबन्ध में उन्होंने गोविंदा को स्मारिका भी भेंट की।

इसके अलावा योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में एक सौ पचासी करोड़ रुपए लागत की बीस परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इनमें चौदह परियोजनाओं का लोकार्पण तथा छह परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित समारोह में कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखना सभी शिक्षकों का दायित्व है। इसे एक चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए सभी शिक्षक शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने की दिशा में कार्य करना चाहिए। शिक्षण संस्थाओं में बेहतर शिक्षा का माहौल सृजित हो, जो समाज एवं राष्ट्रहित में हो। शासन की नीतियों की जानकारी छात्रों को अवश्य देनी चाहिए।

योगी ने साफ कहा कि नागरिकता अधिनियम कानून सिर्फ नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता छीनने के लिए नहीं है। इस अधिनियम का उद्देश्य पाकिस्तान अफगानिस्तान और बांग्लादेश के जो भारत में शरणार्थी हैं, उनको नागरिकता प्रदान करना है। नकारात्मक सोच से किसी का विकास नहीं हो सकता है। विकास के लिए सकारात्मक सोच होनी चाहिए, तभी सुख, समृद्धि एवं राष्ट्रहित होगा। प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य है कि वह सार्वजनिक सम्पत्ति की सुरक्षा करे। राष्ट्रहित में सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए।

प्रदेश सरकार विकास को आगे बढ़ाने तथा शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने की दिशा में निरन्तर कार्य कर रही है। आगामी वर्ष से प्रत्येक रविवार को स्वास्थ्य केंद्रों पर आरोग्य मेला आयोजित किया जाएगा। यह लोक कल्याण का कार्यक्रम है। गरीबों को आयुष्मान योजना, आवास, रसोई गैस कनेक्शन, पेंशन आदि विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत लाभान्वित किया जा रहा है।

सरकार की इन योजनाओं का लाभ समाज के हर गरीब वर्ग को बिना भेदभाव के उपलब्ध कराया जा रहा है। नकलविहीन परीक्षा शासन की प्राथमिकताओं में से एक है। पूर्व की तरह नकल की छूट देकर सरकार नौजवानों, छात्रों के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगी। दो हजार चौबीस तक पाइप पेयजल योजना के तहत हर घर को शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here