नेपाल में प्रेस की आजादी खतरे में, विरोध में आयी नेपाली कांग्रेस

0
468
  • नए कानून पर भड़की नेपाली कांग्रेस: नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार लाई नई अपराध संहिता, बगैर इजाजत के ऑडियो रिकॉर्ड करने या तस्वीर खींचने पर होगी जेल
  • पत्रकार मामला: नेपाल में प्रेस की आजादी पर नियंत्रण लगाने की कोशिश में सरकार

प्रेस की आजादी में सरकार के किसी भी नियंत्रण को स्वीकार नहीं करेंगे

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर 2018: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने सरकार को नई अपराध संहिता के जरिए प्रेस की आजादी पर नियंत्रण नहीं लगाने की चेतावनी दी है। दरअसल, नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार एक नई अपराध संहिता लेकर आई है। गोपनीय सूचना प्रकाशित करने, बगैर इजाजत के ऑडियो रिकॉर्ड करने या तस्वीर खींचने के लिए जेल की सजा दिए जाने का इसमें प्रावधान किया गया है।

पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाली कांग्रेस (एनसी) के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने कहा कि प्रेस की आजादी पर किसी भी आधार पर नियंत्रण नहीं लगाया जाना चाहिए। उन्होंने नेपाली पत्रकारों को किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चितवन जिला में शुक्रवार को नेपाल प्रेस यूनियन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि एनसी प्रेस की आजादी में सरकार के किसी भी तरह के दखल को स्वीकार नहीं करेगी।

सऊदी अरब का हाथ हुआ तो करेंगे सख्त कार्रवाई: ट्रंप 

पत्रकार के लापता होने का मामला:

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर 2018: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को चेतावनी हुए कहा कि यदि पत्रकार जमाल खाशोग्गी के लापता होने में सऊदी अरब का हाथ हुआ तो अमेरिका उस पर सख्त कार्रवाई करेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ट्रंप ने सीबीएस शो पर लेस्ले स्थाल के शो ‘60 मिनट्स’ में यह बयान दिया। सऊदी के लापता पत्रकार जमाल खाशोग्गी सऊदी अरब के शाही परिवार के आलोचक रहे हैं। वह क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की नीतियों के मुखर आलोचक हैं। वह दो अक्टूबर को इस्तांबुल में सऊदी दूतावास गए थे और उसके बाद से ही लापता हो गए। वह अपनी शादी के लिए जरूरी कागजात लेने सऊदी दूतावास गए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तुर्की के जांचकर्ताओं ने आशंका जाहिर की है कि दूतावास के भीतर ही उनकी हत्या कर शव को वहीं ठिकाने लगा दिया गया। हालांकि, सऊदी अरब ने इन आरोपों को खारिज किया है। हालांकि, ट्रंप ने कहा है कि सऊदी अरब के दोषी पाए जाने पर अमेरिका, सऊदी अरब को हथियार बेचना बंद नहीं करेगा। ट्रंप कहते हैं, मैं अमेरिका में 110 अरब डॉलर के निवेश को बंद करने के कॉन्सेप्ट में यकीन नहीं करता क्योंकि हमें पता है कि वे क्या करने जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here