वर्ल्ड क्लीन-अप डे: स्वच्छ पृथ्वी के निर्माण में निभाएं अपनी महत्वपूर्ण भूमिका

0
354
  •  बने लेट्स डू इट इंडिया कैम्पेन का हिस्सा,  21 सितम्बर को लें स्वच्छ इंडिया की शपथ

इंदौर, 20 सितम्बर 2019: वर्ल्ड क्लीन-अप डे या विश्व सफाई दिवस, इस साल 21 सितंबर को आयोजित होना है. इसके लिए व्यापक रूप से किसी संगठन, कंपनी या व्यक्ति विशेष को सामान रूप से हमारे जंगलों, झीलों, समुद्र तटों, महासागरों और कुप्रबंधन से ग्रसित समुदायों की साफ सफाई करने के लिए एक सेना के रूप में देखा जा सकता है। पिछले साल 17 मिलियन से अधिक लोगों को आकर्षित करने वाला क्लीनअप एक्शन दुनियाभर के 150 से अधिक देशों में बनाया गया था। इस तरह के एक बड़े पैमाने पर ठोस प्रयास का उद्देश्य हमारे चारों ओर कूड़ेदान के बारे में जागरूकता बढ़ाना और सभी के लिए बेहतर वातावरण बनाने के लिए समाज को प्रोत्साहित करना है।

भारत में इस मुहीम को बढ़ावा देने का जिम्मा दिल्ली यूनिवर्सिटी में प्रोफ़ेसर व बीजेपी यूथ विंग के सदस्य पंकज चौधरी ने उठाया है. जिसे लेट्स डू इट इंडिया कैम्पेन का नाम दिया गया है. इस मुहीम को सफल बनाने व अधिक से अधिक लोगों को इसके प्रति जागरूक बनाने के मकसद से पब्लिक रिलेशन की अग्रणी कंपनी PR 24×7, और डिजिटल न्यूज़ कम व्यूज प्लेटफार्म ट्रूपल डॉट कॉम ने लेट्स डू इट इंडिया कैम्पेन का हिस्सा बनने की घोषणा की है.

लेट्स डू इट इंडिया कैम्पेन के साथ लोगों को स्वस्थ वातावरण के लिए प्रेरित कर रहे पंकज बताते हैं कि, “लेट्स डू इट इंडिया का उद्देश्य देश को कचरे के कुप्रबंधन से छुटकारा दिलाना और जिम्मेदार नेताओं को विश्व स्वच्छता दिवस जैसे जागरूकता कार्यक्रमों के आयोजन व सहयोग के माध्यम से पर्यावरणीय स्थिरता के प्रति सकारात्मक बदलाव लाने के लिए शिक्षित करना है। दिन प्रतिदिन बदलते वातावरण से हम सभी प्रभावित हैं, और यदि इसपर अभी से ध्यान नहीं दिया गया तो स्थिति और अधिक गंभीर हो सकती है. इसलिए जरुरी है कि हम समय रहते एक स्वच्छ ग्रह बनाने के प्रयास में जुट जाएं।”

पीआर 24×7 के फाउंडर अतुल मलिकराम ने कहा कि, “हम खुश हैं कि हमें लेट्स डू इट इंडिया कैम्पेन का हिस्सा बनने का मौका मिला. तेजी से वातावरण में हो रहे बदलाव हमें कई गंभीर परिस्थितियों में डाल सकते हैं. हम लगभग रोज प्रकृति से खिलवाड़ करने के विपरीत प्ररिणाम देख रहे हैं. इसलिए अब अपनी धरती को स्वच्छ बनाने के लिए सबको एकजुट होकर काम करने की जरुरत है.”

वर्ल्ड क्लीन-अप डे के पीछे की सोच बेहद सरल और सभी के लिए समावेशी है। देश का कोई भी व्यक्ति या समुदाय अपने तरीके से नए सफाई अभियान शुरू कर सकता है या पहले से चल रहे स्वछता अभियानों का हिस्सा बन सकता है। भारत में विश्व सफाई दिवस 2019 को पहले से कहीं अधिक व्यापक रूप से आगे बढ़ाने के लिए लाखों नागरिकों, दसियों कंपनियों व विभिन्न संगठनों के आगे आने की उम्मीद की जा रही है। सभी व्यक्ति, समूह, संगठन और कंपनियां जो एक स्वच्छ ग्रह और स्थायी प्रथाओं को महत्व देते हैं, 21 सितंबर को होने वाले कचरा मैपिंग प्रयासों और सफाई कार्यों में शामिल होने के लिए स्वागत का पात्र हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here