भारतीय रक्षा मंत्री के अरुणाचल दौरे को लेकर चीन को कड़ी आपत्ति

0
669

नई दिल्ली 6 नवंबर। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन अरुणाचल प्रदेश के दौरे को लेकर चीन ने कड़ी नाराजगी जताई है चीन ने कहा है कि शांति के लिहाज से यह बिल्‍कुल भी सही नहीं है। इससे भविष्‍य में संकट गहरा सकता है। रक्षा मंत्री ने यहां चीनी सीमा से सटे सुदूर अंजॉ जिले में भारतीय सेना की अग्रिम चौकियों का दौरा किया और रक्षा तैयारियों का जायजा लिया। इसके अलावा उन्‍होंने भारतीय जवानों संग खाना भी खाया।

भारत-चीन सीमा के पूर्वी हिस्से को लेकर विवाद

निर्मला सीतारमन की अरुणाचल प्रदेश की याऋा पर चीनी विदेश मंत्री ने बयान दिया है। चीनी विदेश प्रवक्‍ता हुआ चुनिंग ने कहा कि एक बात यहां साफ होनी चाहिए कि भारत-चीन सीमा के पूर्वी हिस्से को लेकर विवाद है। भारतीय रक्षा मंत्री का यह दौरा उस क्षेत्र में शांति बनाए रखने की कोशिशों के लिहाज से अनुकूल नहीं है। चीनी अधिकारी ने कहा कि हमें आशा है कि सीमा विवाद को बातचीत के सुलझाने के लिए अनुकूल माहौल तैयार करने में भारतीय पक्ष चीन की कोशिशों में सहयोग देगा।

अरुणाचल को फिर बताया तिब्‍बत का हिस्‍सा

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा 3,488 किलोमीटर लंबी है। दरअसल चीन दावा करता है कि अरुणाचल प्रदेश दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा है। वह भारतीय शीर्ष अधिकारियों के इस इलाके के दावे पर नियमित रूप से आपत्ति जताता है।

बातचीत से सुलझांए मुद्दा

चुनिंग ने कहा कि भारतीय पक्ष को चीनी पक्ष के साथ काम करना चाहिए ताकि बातचीत के जरिये मुद्दा हल हो सके और इसकी खातिर माहौल बन सके। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि भारत यह लक्ष्य हासिल करने के लिए चीन के साथ काम करेगा, वह दोनों पक्षों को स्वीकार्य समाधान देखेगा और संतुलित तरीके से हमारी चिंताओं को उसमें शामिल करेगा।

अरुणाचल के दो दिवसीय दौरे पर हैं रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री सीतारमण दो दिनों के दौरे पर रविवार को अरुणाचल पहुंचीं। यहां उन्होंने चीनी सीमा से सटे सुदूर अंजॉ जिले में भारतीय सेना की अग्रिम चौकियों का दौरा किया और रक्षा तैयारियों का जायजा लिया। सीतारमण अरुणाचल के पहले दौरे पर हैं, जहां उनके साथ पूर्वी कमान के जनरल आफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अभय कृष्ण और सेना के दूसरे वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here