अंगोला में विश्व के ढाई अरब बच्चों के सुरक्षित भविष्य की आवाज उठाई डा. जगदीश गाँधी ने

0
295

लखनऊ,14 जून 2019: सीएमएस के संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने अंगोला में आयोजित ‘अफ्रीका के संवैधानिक न्यायालयों के 5वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ के उद्घाटन सत्र में विभिन्न अफ्रीकी देशों के न्यायाधीशों को सम्बोधित करते हुए विश्व के ढाई अरब बच्चों के सुरक्षित भविष्य की आवाज उठाई और कहा कि एकता व शान्ति से परिपूर्ण विश्व व्यवस्था में ही बच्चों को सुरक्षित भविष्य का अधिकार दिलाया जा सकता है उन्होंने कहा कि इस पुनीत कार्य में न्यायिक बिरादरी को अहम भूमिका निभानी है।

इस अवसर पर अंगोला के राष्ट्रपति महामहिम जाओ लारेन्को, साउथ अफ्रीका के चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति मोगोंग मोगोंग, अफ्रीकन यूनियन की प्रतिनिधि एवं राजनीतिक मामलों की कमिश्नर श्रीमती मिनाटा समाटे आदि विभिन्न हस्तियों उपस्थित थी। सम्मेलन में भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51’ एवं भारत की ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की संस्कृति पर विचार रखते हुए डा. गाँधी ने कहा कि जब तक विश्व समुदाय में एकता, समानता व शान्ति का वातावरण नहीं बनेगा, तब तक भावी पीढ़ी का भविष्य भी सुरक्षित नहीं है।

विदित हो कि अफ्रीकी देशों के इस ‘अन्तर्राष्ट्रीय न्यायाधीश सम्मेलन’ में डा. जगदीश गाँधी विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रतिभाग कर रहे हैं। अंगोला के संवैधानिक न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डा. मैनुएल डाकोस्टा अरागो ने इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन प्रतिभाग हेतु डा. जगदीश गाँधी को विशेष रूप से आमन्त्रित किया है।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. के इन अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में अभी तक विश्व के 133 देशों के 1222 मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश एवं राष्ट्राध्यक्ष आदि प्रतिभाग कर चुके हैं तथा विश्व की न्यायिक बिरादरी ने सी.एम.एस. की विश्व एकता, विश्व शान्ति व विश्व के ढाई अरब बच्चों के सुरक्षित भविष्य की मुहिम को भारी समर्थन दिया है।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here