तस्करी कर केन्या ले जाई गई तीन लड़कियों को सुषमा ने बचाया

0
410

मुसीबत में फंसे नागरिक ट्वीटर पर उनसे मदद मांगते रहे हैं, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तत्काल जवाब देकर उनकी मदद का आश्वासन देती रही हैं

नई दिल्ली, 05 जनवरी 2018। अपने वतन से दूर मुसीबत में फंसे भारतीयों का मदद के लिए सुषमा स्वराज हमेशा से ही आगे रही है। यही कारण है कि वह सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर काफी सक्रिय रहती हैं। मुसीबत में फंसे नागरिक ट्वीटर पर उनसे मदद मांगते रहे हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तत्काल जवाब देकर उनकी मदद का आश्वासन देती रही हैं। ताजा मामले में उन्होंने मानव तस्करी की भेंट चढ़ी तीन भारतीय लड़कियों को बचाया है। सुषमा ने कहा हमने तीन लड़कियों को केन्या से सकुशल बचाया है। इन लड़कियों को एक संगठन के द्वारा तस्करी कर केन्या ले जाया गया था। इनके अलावा सात नेपाली लड़कियों को भी उनके चंगुल से बचाया गया है। उनके पासपोर्ट और मोबाइल फोन्स ले लिए गए थे और उन्हें मोम्बासा में कैद कर के रखा गया था।

सुषमा ने कहा हमने लड़कियों को वापस भारत बुला लिया है। अब हम इस मामले की सारी डिटेल पंजाब सरकार के साथ साझा कर रहे हैं, ताकि वे तस्करों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई कर सकें। सुषमा स्वराज ने केन्या में भारतीय उच्चायुक्त सुचित्रा दुराई और सचिव करन यादव के मदद के प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने केन्याई पुलिस को भी उनकी मदद के लिए धन्यवाद किया। एक अन्य मामले में महाराष्ट्र के ठाणे की रहने वाली एक लड़की ने सुषमा स्वराज से मदद मांगी थी । दरअसल उस लड़की के पिता मिस्र में पिछले कई सालों से काम कर रहे थे, जहां उनकी मौत हो गई थी। उसने सुषमा से अपने पिता की बॉडी को भारत वापस लाने के लिए मदद की गुहार लगाई। इस पर सुषमा स्वराज ने तुरंत संज्ञान लेते हुए उसे हरसंभव मदद का आश्वासन दिया था।

सुषमा स्वराज ने अपने जवाब में ट्वीट किया, रीना..”हमने यह देखा। तुम्हारे पिता की दु:खद मौत पर मेरी गहरी संवेदनाएं तुम्हारे साथ है। मिस्र के स्थित भारतीय दूतावास आपको इसमें हरसंभव मदद करेगा।” ऐसा लिखते हुए उन्होंने मिस्र स्थित भारतीय दूतावास को भी टैग किया। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने समय-समय पर दूसरे देशों में फंसे कई भारतीयों को सकुशल स्वदेश लाने में मदद कर चुकी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here