यूपी में कई जगह ओलावृष्टि के साथ हुई तेज बारिश, किसानों की खड़ी फसलें बर्बाद, अगले दो दिन तक मौसम और रहेगा खराब

0
672
  • मुख्यमंत्री ने नुकसान का आंकलन कर जल्द राहत पहुंचाने के दिए निर्देश
  • माैसम विभाग ने कहा, पश्चिमी विक्षोभ व राजस्थान में कम वायुदाब के कारण मौसम खराब

लखनऊ, 05 मार्च 2020: लखनऊ सहित कई जगहों पर बारिश के साथ ही ओले गिरने के कारण जन-जीवन अस्त-व्यस्त होने के साथ ही रबी की फसल को नुकसान होने की सूचना है। गुरुवार को दोपहर बाद अचानक आसमान घने बादल छा गये और बारिश के साथ ही ओले भी गिरने लगे।

मौसम विभाग के अनुसार अभी शुक्रवार और शनिवार को भी मौसम खराब रहने की संभावना है। कई जगह ओले भी गिर सकते हैं। यह बारिश पश्चिमी विक्षोभ व राजस्थान में वायु का कम दबाव के कारण हुई है। वहीं मुख्यमंत्री ने ओलावृष्टि से प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों से तत्काल आंकलन कर किसानों को राहत पहुंचाने के निर्देश दिये।


ओलावृष्टि की मार से किसानों की फसलें हुयी बर्बाद: किसान बोलें: हम तो बर्बाद हो गये

उत्तर प्रदेश में हुयी बुधवार और गुरुवार को हुई जोरदार बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की कड़ी फसल बर्बाद हो गयी। किसानों का कहना है कि हम बुरी तरह से बर्बाद हो गए, आप ही देख लीजिये बड़े- बड़े ओले किस कदर खेतों में बिखरें पड़े हैं और खड़ी फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गयी। किसानों ने फसल बर्बाद होने पर सरकार से मुवावजे कि मांग की है।


गुरुवार को सुबह आसमान में हल्के बादल के साथ ही तेज धूप थी लेकिन दोपहर बाद घने बादल छा गये। देखते ही देखते तेज बारिश शुरू हो गयी और कई जगहों पर ओले भी गिरने लगे। इससे पूरा जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बाजार निकले लोग जल्द ही अपने घरों के लिए चले गये। वहीं सोनभद्र में भी ओले गिरने से रवि की फसलों को काफी क्षति होने का अनुमान है।

इस संबंध में मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि यह पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश हुई है। इसके साथ ही राजस्थान में कम वायुदाब का क्षेत्र भी इसका कारण है। उन्होंने कहा कि यह अभी शुक्रवार और शनिवार को भी खराब रह सकता है। शुक्रवार को तो पूरा यूपी प्रभावित रहने की संभावना है लेकिन शनिवार को लखीमपुर, श्रावस्ती, आदि यूपी के उत्तरी जिले ही प्रभावित रहेंगे।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसको तुरंत संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि ओलावृष्टि से हुई फसल हानि का तत्काल आंकलन कर राहत प्रदान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here