हेल्थ केयर नहीं अब हेल्थ कवर भी लीजिये: राजनाथ

0
372
  • आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को पत्र वितरित
  • कोई भी हेल्पलाइन नंबर 1097 से ले सकता है मदद

लखनऊ, 27 अक्टूबर 2018: पहले हेल्थ केयर की बात होती थी लेकिन अब हम पूरे हेल्थ कवर की जिम्मेदारी ले रहे हैं. यह कहना है केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का. केन्द्रीय गृह मंत्री शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से जारी पत्र को लखनऊ जनपद के 15 लाभार्थियों को वितरित कर रहे थे. यह कार्यक्रम राजधानी स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया.

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह योजना अदभुत रूप में सामने आई है। अन्य देशों के लिए मिसाल के रूप में परिणान देगी। गृह मंत्री ने बताया कि लखनऊ में अब तक 45 लोगों का इलाज किया जा चुका है. प्रधानमंत्री की इच्छा के अनुरूप दिल के मरीजों के लिए 85 प्रतिशत स्टंट के दामों में कमी की गई है वहीं घुटने के मरीजों को राहत देते हुए 60 प्रतिशत की कमी की गई है.

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि प्रदेश में पुरानी जनगडना में साढ़े 10 लाख नये लोगों को जोड़ा गया है. उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई को सूचीबद्ध करवाने की अपील की है. उन्होंने बताया कि यूपी में अब तक 1190 अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है. यूपी के  882 लोगों को स्वास्थ्य लाभ दिया जा चुका है. प्रदेश के 1.18 करोड़ परिवार वालों को प्रधानमंत्री का योजना संबंधी पत्र वितरित किया जा रहा है. जिसका अधिकांश कार्य पूरा हो चुका है. उन्होंने बताया कि फ़िलहाल पी. पी. पी. माडल पर हर जनपद में 100 बेड वाले दो अस्पताल खोल रहे हैं. और इसी तरह पूरे यूपी में 150 अस्पतालों को खोलने की योजना है. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि  देश में 1.5 लाख और यूपी में 20 हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोला जा रहा है. जिसमे 2500 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स खोले जा चुके हैं.

चिकित्सा एवं शिक्षा मंत्री गोपाल दस टंडन ने कहा कि योजना के अंतर्गत लखनऊ के ग्रामीण इलाके के 124549 को लक्षित करते हुए 98.1 प्रतिशत यानी 122227 परिवारों को चिन्हित किया गया है. वहीं शहरी इलाके के 154749 को लक्षित करते हुए 100 प्रतिशत परिवारों को चिन्हित किया गया है. लखनऊ में 26 सरकारी और 82 निजी कुल 108 चिकित्सालयों को सूचीबद्ध किया जा चुका है. बी.आई.एस. पोर्टल के माध्यम से जनपद में अब तक 600 से अधिक लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड दिए जा चुके हैं. वहीं टी.एम.एस. के माध्यम से लगभग 45 मरीजों का उपचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि देश में साढ़े 10 करोड़ में लाभार्थियों में 1.5 करोड़ परिवार यूपी से हैं. वहीं विधि मंत्री ब्रिजेश पाठक ने प्रधानमंत्री की यह एक महत्वाकांक्षी योजना है.

इस मौके पर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, मंत्री ब्रीजेश पाठक, मत्री आशुतोष टंडन और लखनऊ जनपद के विधायक और स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव प्रशांत त्रिवेदी समेत सभी आलाअधिकारी मौजूद रहे।

आयुष्मान योजना की खासियत:   

प्रदेश व देश के नागरिकों और उसके परिवार वालों को आयुष्मान योजना का लाभ मिलेगा। इसमें परिवार के सदस्यों की संख्या एवं उनकी आयु का कोई बंधन नहीं रहेगा। योजना के तहत सरकार प्रतिवर्ष प्रति परिवार पांच लाख रूप्ये तक का निशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान करेगी। इस योजना में बलिकाओं] महिलाओं एवं वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता दी जाएगी. सभी पुरानी एवं नई गंभीर बीमारियों जैसे कैंसर] हृदय रोग आदि बीमारियों का इलाज संभव होगा. किसी भी सूचीबद्ध चिकित्सालय में निशुल्क चिकित्सा सुविधा दी जाएगी.1350 प्रकार के मेडिकल पैकेजों की सुविधा जिसमें सर्जरी] डे केयर] दवाइयों को खर्च आदि शामिल होगा. देश में 10.74 करोड परिवारों के लगभग 50 करोड लाभार्थियों को इस योजना का लाभ मिल सकेगा। वहीं लखनऊ के शहरी क्षेत्र में 1.56 लाख और ग्रामीण इलाके में 1.2 लाख लाभार्थी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here