रोस्टर प्रणाली पर आर-पार की लड़ाई का ऐलान

0
326

करो मरो की तर्ज पर पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था बहाल कराने हेतु करेंगे संघर्ष

लखनऊ, 08 फरवरी 2019: 10 फरवरी को आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के तत्वाधान में लखनऊ में अम्बेडकर स्मारक, गोमती नगर में प्रातः 8 बजे पदोन्नति में आरक्षण बिल पास कराने व 200 प्वाइंट रोस्टर को बहाल कराने को लेकर संघर्ष समिति का जन जागरण अभियान बिजली, कृषि, उद्यान परिवहन, सिंचाई के बाद आज जल निगम मुख्यालय पर जोर शोर से चला। जिसमें सभी दलित व पिछड़े कार्मिकों ने एक सुर में 10 फरवरी को अपनी पूरी ताकत दिखाकर आर-पार की लड़ाई का ऐलान करने का आहवान किया।

जल निगम मुख्यालय पर आरक्षण समर्थक कार्मिकों ने अपनी आवाज बुलन्द करते हुए कहा जब तक पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था बहाल नहीं होती प्रदेश के 2 लाख दलित कार्मिकों का रिवर्शन वापस नहीं होता तब तक चुप बैठने वाले नहीं हैं। अब समय आ गया है करो मरो की तर्ज पर अपने संवैधानिक अधिकार की रक्षा करने का, ऐसे में प्रदेश के 8 लाख आरक्षण समर्थक कार्मिक हर कुर्बानी देने के लिये तैयार हैं।

इस मौके पर जल निगम मुख्यालय में जन जागरूकता अभियान के बाद संघर्ष समिति के संयोजकों में अवधेश कुमार वर्मा, अनिल कुमार, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, एसपी कुरील, सुशील कुमार, आरपी जाटव, विनोद कुमार, भीमराज, धर्मपाल ने कहा जल निगम के सभी दलित व पिछड़े कार्मिक 10 फरवरी को आरक्षण बचाओ पैदल मार्च में अपनी ताकत दिखाकर उप्र सरकार को प्रदेश में पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था बहाल करने हेतु विवश करेंगे। यह दुर्भाग्य की बात है कि सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ द्वारा पारित आदेश के बाद भी अभी तक न ही दलित कार्मिकों का रिवर्शन वापस किया गया और न ही अभी तक पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था उप्र में बहाल की गयी। जिससे यह सिद्ध होता है कि केन्द्र व राज्य सरकार को दलित कार्मिकों से कोई लेना देना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here