वसीम रिजवी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये : कल्बे जवाद

0
167

आखिर सरकार द्वारा वसीम रिजवी को छूट दिए जाने का कारण किया है? अभी तक उसके खिलाफ सीबीआई जांच नहीं कराई गई और न पुलिस द्वारा चार्जशीट दाखिल की जा रही है। जबकि उसका अपराध और भ्रष्टाचार साबित हो चुका हैं: कल्बे जवाद

लखनऊ 11 जनवरी : मदरसों के लिये शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी द्वारा दिए गए निराधार बयान की भारत के सभी ओलमा ने संयुक्त रूप से निंदा करते हुये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वसीम रिजवी की गिरफ्तारी की मांग की। वसीम रिजवी के बयान की निंदा करते हुए मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कहा कि शिया समुदाय वसीम रिजवी के बेबुनियाद बयान की निंदा करता है।

मुख्यमंत्री जी अगर वसीम रिजवी के खिलाफ कडी कार्यवाही नहीं करते हैं तो हम लखनऊ से दिल्ली तक विरोध करने पर मजबूर होंगे:

 मौलाना ने यूपी सरकार से सवाल किया कि आखिर सरकार द्वारा वसीम रिजवी को छूट दिए जाने का कारण किया है? अभी तक उसके खिलाफ सीबीआई जांच नहीं कराई गई और न पुलिस द्वारा चार्जशीट दाखिल की जा रही है। जबकि उसका अपराध और भ्रष्टाचार साबित हो चुका हैं। मौलाना ने अधिक कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि ऐसे बयानों से देश का माहौल खराब हो सकता है और उत्तर प्रदेश में दंगों की स्थिति पैदा हो सकती है इसलिए इस पर सख्त कार्यवाही हो और वसीम रिजवी को गिरफतार किया जाये। मौलाना ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वसीम रिजवी के खिलाफ कडी कार्यवाही नहीं करते हैं तो हम लखनऊ से दिल्ली तक विरोध करने पर मजबूर होंगे।
मौलाना ने कहा कि 5 साल के लिए मदरसे आजम खान के अन्डर में रहे हैं, जिसका मतलब है कि आजम खान के समय से आतंकवादी बनाये जा रहे है। चेयरमेन भी पांच साल तक चुप रहा हैं इसका मतलब ये हुआ के वो भी आतंकवादी बनाने के अपराध में शामिल हैं। मौलाना ने शिया मदरसों के जिम्मेदारों से भी कहा कि वह इस मामले पर कियों चुप्प हैं और उसके हर बयान पर चुप कियों रहते है, उसने मदरसों को निशाना बनाया है और उन पर आतंकवादी बनाने का आरोप लगाया है, इसलिए शिया मदरसों के जिम्मेदार उसके खिलाफ कार्रवाई की माॅग करें।
भारत के सभी महत्वपूर्ण और जिम्मेदार ओलमा ने वसीम रिजवी के बयान की निंदा करते हुये  कहा कि वसीम रिजवी ने मदरसों को संदिग्ध बनाने की कोशिश की है, ओलमा ने कहा कि वसीम रिजवी अपने हितों को प्राप्त करने और गिरफ्तारी से बचने के लिए ऐसे निराधार और भड़काऊ बयान दे रहा है लेकिन अब इस तरह के बयानों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। ओलमा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि वसीम रिजवी के निराधार आरोपों के खिलाफ कार्यवाही की जाए और उसे गिरफ्तार किया जाये, अगर कार्यवाही नहीं की जाती है तो हमारे पास विरोध का अधिकार सुरक्षित रहेगा। ओलमा ने  कहा कि वसीम रिजवी अपने पद का दुरुपयोग कर रहा है और ऐसे बयान दे रहा जिससे देश का माहौल खराब हो सकता है इसलिए उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
वसीम रिजवी के बयान की निंदा करने वाले विद्वानों में मुंबई से मौलाना हुसैन मेहदी हुसैनी, दिल्ली से मौलाना मोहसिन तकवी इमामे जुमा शिया जामा मस्जिद कश्मीरी गेट,मौलाना जलाल हैदर नकवी, मौलाना आबिद अब्बास इमामे जुमा, मौलाना नईम अब्बास आब्दी नोगानवां, मौलाना सफदर हुसैन जौनपुर, मौलाना मोहम्मद रजा गरवी गुजरात, मौलाना करामत हुसैन जाफरी मुंबई, मौलाना मीर अजहर अली बंेगलुरू, मौलाना तकी आगा हैदराबाद, मौलाना गुलाम मुहम्मद मेहदी खान चेन्नई, मौलाना रजा हुसैन, मौलाना तसनीम मेहदी, मौलाना रजा हैदर, लखनऊ और अन्य ओलमा ने वसीम रिजवी के बयान की निंदा करते हुए सख्त कार्यवाही की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here