महिंद्रा बाहा एसएईइंडिया ने अपने 12वें संस्करण का किया समापन 

0
  • इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, निरमा विश्वविद्यालय, अहमदाबाद ने ई-बाहा और गवर्नमेंटकॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, पुणे एम-बाहा श्रेणी में विजेता बने

इंदौर, 28 जनवरी 2019: महिंद्रा द्वारा आयोजित बाहा एसएईइंडिया 2019 का पीथमपुर में बहुप्रतीक्षित 12वां संस्करण रविवार को समाप्त हो गया, जिसके कई यादगार क्षण लोगों के दिलों बस गये। इस कार्यक्रम में शामिल 120 एम-बाहा टीमों में से कुल 85 और 50 ई-बाहा टीमों में से 22 ने एंड्योरेंस इवेन्ट्स में भाग लिया।

इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, निरमा विश्वविद्यालय, अहमदाबाद को श्सर्वश्रेष्ठ ई-बाहा टीम और गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, पुणे को ‘श्सर्वश्रेष्ठ एम-बाहा टीम’ घोषित किया गया। एंड्योरेंस इवेन्ट को श्री भरत मूसद्दी, ईवीपी एवं सीएफओ, ऑटो सेक्टर, महिंद्रा एण्ड महिंद्रा लिमिटेड ने झंडी दिखाकर आरंभ किया। इस अवसर पर उनके साथ श्री उमेश शाह, सीनियर वीपी एवं सीओओ (सीवीआरबीयू), गेब्रियल इंडिया लिमिटेड, संयोजक – बाहा एसएईइंडिया 2019, राकेश सूद, एमडी, ट्रिम इंडिया, और डॉ. के.सी. वोरा, सीनियर एडवाइजर, बाहा एसएईइंडिया और वरिष्ठ उप निदेशक, एआरएआई मौजूद रहे।

यह आयोजन ई-बाहा का पांचवा संस्करण था जिसका उद्देश्य भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का लाभ उठाने के लिए प्लेटफार्म प्रदान करना है। इस कार्यक्रम में पीथमपुर के 50 कॉलेजों की भागीदारी रही।

बाहा एसएईइंडिया श्रृंखला के 12वें वर्ष में कुल 363 टीमों ने पंजीकरण किया था, जिसमें से 251 (पीथमपुर के लिए 120 एम-बाहा और 50 ई-बाहा, और आईआईटी, रोपड़ के लिए 81) टीमों ने समापन कार्यक्रम के लिए क्वालिफाई किया था। कुल 107 टीमों (एम-बाहा के लिए 85 टीम और ई-बाहा के लिए 22) ने एंड्योरेंस राउंड में जगह बनाई। यह संस्करण देश के विभिन्न हिस्सों के 4250 छात्रों के कारण उल्लेखनीय रहा, जिसमें बाहा एसएईइंडिया 2019 की थीम ’एडवेंचर रीलोडेड’ का जश्न मनाया गया।

महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन गोयनका ने कहा कि “बाहा एसएईइंडिया ने पिछले बारह वर्षों में कदम-दर-कदम मजबूती हासिल करते हुए विकास किया है और यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि इस साल का संस्करण पहले से कहीं अधिक बड़ा और बेहतर रहा है। इस अनूठी पहल की सफलता, हमारी नवोदित इंजीनियरिंग प्रतिभाओं को पोषित करने और कक्षा में सीखी-समझी गई अवधारणाओं को वास्तविक दुनिया में लागू करने के लिए उन्हें तैयार करने में निहित है। प्रासंगिक बने रहने और ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में आने वाले परिवर्तनों के मामले में अपडेट रहने के कारण, बाहा एसएईइंडिया ने ऑटोमोटिव प्रतिभाओं को निखारने में विशेष और उत्साहजनक भूमिका निभाई है।

उमेश शाह, सीनियर वीपी एवं सीओओ (सीवीआरबीयू), गेब्रियल इंडिया लिमिटेड, संयोजक – बाहा एसएईइंडिया 2019, पीथमपुर ने कहा कि “बाहा एसएईइंडिया का उद्देश्य इंजीनियरिंग प्रतिभा को एक ऐसा वातावरण प्रदान करना है जो उन्हें न केवल सीखने के लिए प्रोत्साहित करे, बल्कि व्यावहारिक ज्ञान के जरिये भी उनका विकास करे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here