अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण की पृष्ठभूमि तैयार करने के लिए दिव्य रथ की हुई स्थापना

0
365
  • अयोध्या से लखनऊ पहुंचे रथ, हुआ पूजन, लोगों की रही काफी भीड़
  • विजयादशमी के दिन निकलेगी शोभायात्रा

लखनऊ, 06 अक्टूबर 2019: राष्ट्रीय पर्व एवं उत्सव समिति के तत्वावधान में “जय श्रीराम विजयादशमी शोभा यात्रा” निकाली गयी। रविवार को निकली शोभायात्रा से पूर्व शाम को चार बजे गोमती नगर स्थित प्रतीक स्थल में दिव्य रथ स्थापना व पूजन का कार्यक्रम आयोजित हुआ। समिति के तत्वावधान में महानगर में तीन दिन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस शोभा यात्रा का उद्देश्य अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण की पृष्ठभूमि तैयार करना है। लोगों में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से जागरूकता लाना भी है।

इसके प्रचार-प्रसार के लिए देश के प्रमुख हवाई अड्डों पर भी एलईडी और होर्डिंग्स के माध्यम से लोगों को जानकारी दी जा रही है। इस शोभा यात्रा के लिए मनोरम ढंग से सुसज्जित दिव्य रथ अयोध्या से लाये गये हैं, जिनमें भगवान श्रीराम की दिव्य झांकी विराजमान है। रविवार शाम के पहुंचे दिव्य रथ का पूजन के बाद भजन संध्या, प्रसाद वितरण के बाद व्यवस्थापकाें ने बैठक कर आगे की योजना बनाई।सोमवार को सुबह दिव्य रथ की आरती होगी। इसके बाद समीक्षा बैठक, फिर प्रेसवार्ता का आयोजन होना है।

शोभा यात्रा विजय दशमी के दिन सुबह गोमती नगर स्थित प्रतीक स्थल (अम्बेडकर उद्यान) से निकलेगी और सीएमएस चौराहा, दयाल चौराहा, शहीद मनोज पाण्डेय चौराहा, पत्रकारपुरम चौराहा, स्वामी विवेकानंद चौराहा होते हुए हाईकोर्ट के सामने से पाॅलिटेक्निक चौराहा, टेढ़ी पुलिया, राम नाम बैंक चौराहा, कपूरथला चौराहा, डालीगंज मार्केट, हाथी पार्क, केजीएमयू चौराहा, रुमी दरवाजा, शहीद स्मारक, परिवर्तन चौक, दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर, अटल चौराहा (हजरतगंज चैराहा) से राजभवन रोड से गुजरते हुए मुख्यमंत्री आवास चौराहा पहुंचेगी। इसके बाद लोहिया पथ से 1090 चौराहा और समता मूलक चौराहा होते हुए प्रतीक स्थल पर समाप्त होगी।

शोभा यात्रा के दौरान जगह-जगह भगवान श्रीराम की झांकी का पूजन अर्चन होगा। पूरे यात्रा मार्ग पर पुष्प वर्षा होगी और शंख ध्वनि के साथ आम नागरिकों द्वारा भगवान श्रीराम की मंगल आरती की जायेगी।
शोभा यात्रा में लगभग एक लाख लोगों की सहभागिता कराने को लेकर आयोजन समिति अपनी तैयारियां की है। कार्यक्रम के व्यापक प्रचार प्रसार की योजना बनायी गयी है। लखनऊ के अमौसी हवाई अड्डे समेत देश के 21 प्रमुख हवाई अड्डों पर भी एलईडी और होर्डिंग्स के माध्यम से इस कार्यक्रम के बारे में लोगों को जानकारी दी जा रही है।

51 चौराहों पर होगा स्वागत:

आयोजन समिति के सदस्य ललित श्रीवास्तव ने बताया कि यात्रा छह किलोटर लंबा काफिला होगा। 120 चौराहों से गुजरेगा। 42 किलोमीटर सफर तय करेगा। यात्रा विजया दशमी के दिन सुबह नौ बजे से शुरू होगी। दो बजे प्रतीक स्थल पर वापस उसी स्थान पर समापन होगा। दुर्गाष्टमी के अवसर पर ही रथ की लोग पूजा अर्चना करेंगे। लखनऊ में 51 चौराहों पर स्वागत की तैयारी। 2100 मोटर साइकिल,1100 कार होगी। इसके लिए देश के 21 हवाई अड्डों पर इसका प्रचार कराया गया है। इसकी अगुआई मात्र शक्तियों का दल करेगा।

सबसे पीछे चलेगा कूड़ा उठाने वाला वाहन:

ललित ने कहा कि यात्रा को नियंत्रित करने के लिए ट्रैफिक मार्शल स्वयंसेवकों का 25 वाहनों का दल होगा। शोभा यात्रा पूर्ण रूपेण पालीथिन मुक्त और साथ मे डस्टविन भी रहेगा। स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए यात्रा के सबसे पीछे एक वाहन होगा जो कूड़ा उठाते चलेगा। एक और खास बात यह कि इस यात्रा में प्रयोग किया जाने वाला रथ 1992 में प्रयोग में लाया गया था। इसी रथ पर सिला पूजन हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here