बसपा का सपा से गठबंधन खत्म, अकेले लड़ेगी सभी चुनाव बसपा

0
358

यूपी में 2019 में साथ-साथ लड़ा था लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली, 25 जून 2019: आखिरकार वही हुआ जिसका कयास सभी पहले से लगा रखा था। मायावती ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रैंसे कर साफ कर दिया कि समाजवादी पार्टी के भरोसे भाजपा को हराना संभव नहीं है। ऐसे में बसपा अब सभी चुनाव अकेले दम पर लड़ेगी। यानी सपा और बसपा का गठबंधन अब पूरी तरह खत्म! मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद सपा के व्यवहार से उनको भी सोचने पर मजबूर होना पड़ा। इससे पहले रविवार को मायावती ने यूपी के उप चुनाव अकेले लड़ने की बात कही थी। दूसरी ओर वालों ने साफ कहा कि सपा के साथ उसका गठबंधन जारी रहेगा।

उन्होंने साफ कर दिया कि उनकी पार्टी भविष्य के सभी चुनाव अकेले अपने दम पर लड़ेगी। मायावती ने अपने इस बयान से लोकसभा चुनाव में सपा से हुए गठबंधन खत्म कर दिया है। बसपा अध्यक्ष मायावती का यह बयान रविवार को यहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं, सांसदों और विधायकों की बैठक के अगले दिन सोमवार को आया है। इसकी जानकारी खुद मायावती ने अपने तीन ट्वीट के जरिए दी।

’उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में हुए गठबंधन के मद्देनजर बसपा को 38 और सपा ने 37 सीटों पर प्रत्याशी उतारे, मगर इस चुनाव में बसपा को 10 सीटें तो सपा के खाते में सिर्फ पांच ही सीटें आयीं। 

बसपा अध्यक्ष ने अपने ट्वीट में समाजवादी पार्टी पर लिखा, उन्होंने अपने पहले ट्वीट में कहा, ‘‘वैसे भी जगजाहिर है कि हमने सपा के साथ सभी पुराने गिले-शिकवे को भुलाने के साथ-साथ सपा सरकार के बीएसपी और दलित विरोधी फैसलों, पदोन्नति में आरक्षण के विरुद्ध कार्यो तथा बिगड़ी कानून व्यवस्था के मुद्दों को दरकिनार कर देश व जनहित में सपा के साथ गठबंधन धर्म को पूरी निष्ठा से निभाया।

’उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘‘लोकसभा चुनाव के बाद सपा का व्यवहार बसपा को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके भविष्य में भाजपा को हरा पाना संभव होगा? हमारे हिसाब से तो संभव नहीं होगा।’ एक अन्य ट्वीट में मायावती ने लिखा है,‘‘इसलिए हमने पार्टी और मूवमेंट के हित में फैसला लिया है कि बसपा भविष्य में होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने बूते पर लड़ेगी।’

मायावती ने अपने ट्वीट में मीडिया पर लिखा, ‘‘बसपा की ऑल इंडिया बैठक रविवार को लखनऊ में ढ़ाई घण्टे तक चली। इसके बाद राज्यवार बैठकों का दौर देर रात तक चलता रहा, जिसमें मीडिया शामिल नहीं था। फिर भी मेरे (बसपा प्रमुख) बारे में जो बातें फैलायी गयीं, उनमें कोई सच्चाई नहीं हैं जबकि इस बारे में प्रेस नोट भी जारी किया गया था।

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here