कुलपति आलोक कुमार ने यूपी सीएम को सौंपा चेक

0
273

लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो आलोक कुमार ने आज राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से भेंट की। उन्होने कोविड केअर फंड में लखनऊ विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का एक दिन का वेतन कुल रुपए 34,81,918/- (चौतीस लाख इक्यासी हज़ार नौ सौ अठारह) का चेक सहायता राशि मुख्यमंत्री को सौंपी।

नौक तैयारी पर विचार

इसके अलावा प्रो आलोक कुमार राय राजभवन में आयोजित बैठक में शामिल हुए इसमें उन्होंने राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल को नौक तैयारियों के संबन्ध में जानकारी दी। उन्होंने विश्वविद्यालय में छात्र छात्राओं के प्रवेश का प्रतिशत, छात्र शिक्षक अनुपात तथा विश्वविद्यालय में छात्र छात्राओं के लिए उपलब्ध संसाधनों के विषय में भी कुलाधिपति को अवगत कराया।

सकारात्मक सन्देश

इसके अलावा राष्ट्रीय सेवा योजना की अगुवाई में मुस्कुरायेगा इण्डिया का सकारात्मक सन्देश दिया गया। विश्वविद्यालय के सूचना व जनसम्पर्क निदेशक डॉ दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोविड-19 पर जागरुकता सम्बन्धी आयोजित किये गए विविध कार्यक्रमों के क्रम मे यूनीसेफ एवं राष्ट्रीय सेवा योजना,उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्त्वावधान में एक ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का संयोजन यूनीसेफ के डॉ आफ़ताब एवं दया जी तथा राष्ट्रीय सेवा योजना,उत्तर प्रदेश के राज्य संपर्क अधिकारी डॉ. अंशुमाली शर्मा एवं राष्ट्रीय सेवा योजना, लखनऊ विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. राकेश द्विवेदी ने किया। कार्यक्रम ज़ूम ऐप पर ऑनलाइन आयोजित किया गया। डॉ. अंशुमाली शर्मा ने बताया कि इस कार्यक्रम में प्रदेशभर से एक सौ बीस से अधिक राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारियों ने प्रतिभाग किया तथा कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए प्राप्त प्रशिक्षण को जनहित के लिये प्रसारित करने का संकल्प लिया।

 

उन्होंने बताया कि प्रदेश भर के सभी कार्यक्रम अधिकारी इस हेतु सलाह देने के लिए चौबीस घंटे उपलब्ध रहेंगे। प्रशिक्षण एवं मुख्य परामर्शदाता के तौर पर लखनऊ विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग की डॉ. मानिनी श्रीवास्तव एवं जयनारायण परास्नातक महाविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग की डॉ. रश्मि सोनी उपस्थित वर्तमान संकट में व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य एवं उनके बदलते व्यवहार की स्थिति से कार्यक्रम अधिकारियों को अवगत कराया। इस स्थिति में विभिन्न प्रकार के कौशल विकास, सकारात्मक सोच एवं नियत कार्य में व्यस्त रखकर रखना चाहिए। इससे सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होगी।

 

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से राष्ट्रीय सेवा योजना,लखनऊ विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय की विभिन्न इकाई के कार्यक्रम अधिकारी भी लाभान्वित हुए तथा उन्होंने भी वर्तमान संकट के समय देश सेवा के इस पुनीत कर्तव्य को करने का प्रण किया। राष्ट्रीय सेवा योजना,लखनऊ विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्यवक डॉ. राकेश द्विवेदी ने बताया कि इस दिशा में लखनऊ विश्वविद्यालय कार्यक्रम अधिकारियों प्रशिक्षणानुसार जनता को आवश्यक सेवा लाभ पहुंचाने हेतु तैयार है।

  • डॉ दिलीप अग्निहोत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here