भारी बारिश से हर राज्य में तबाही, नदियां खतरे के निशान से ऊपर

0
125

मौसम विभाग का अलर्ट जारी, कई इलाके जलमग्न, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में दो दिन में गई 50 लोगों की जान

नई दिल्ली,20 अगस्त 2019: एक बार फिर बांधों से भारी मात्रा में पानी छोड़े जाने से यूपी के कई मैदानी इलाकों में हालात बिगड़ गए हैं। गंगा, यमुना, चम्बल और घाघरा समेत अनेक नदियों के उफान पर होने से अनेक क्षेत्र बाढ की चपेट में हैं और हजारों हेक्टेयर फसल बरबाद हो गयी है। बता दें कि देश में लगातार बारिश से बाढ़ और भूस्खलन की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। बारिश ने दक्षिण के बाद अब उत्तर भारत में भी तबाही मचानी शुरू कर दी है।

कालपी में यमुना 60 सेमी व इटावा में चम्बल खतरे के निशान से दो मीटर ऊपर:

मीडिया रिपोर्ट्स और केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक यमुना नदी औरैया और जालौन में कहर ढा रही है। इन दोनों ही स्थानों पर इसका जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है। गंगा नदी कछलाब्रिज (बदायूं) में, चम्बल नदी धौलपुर में, शारदा नदी पलियाकलां में घाघरा नदी एल्गिनब्रिज में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इसके अलावा, घाघरा नदी का जलस्तर अयोध्या और तुर्तीपार में लाल निशान के नजदीक पहुंच गया है।

भारी बारिश की चेतावनी:

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ही करीब 45 लोगों की जान जा चुकी है। मौसम विभाग ने बुधवार को भारी बारिश की चेतावनी दी है। अगले 24 घंटे में उत्तराखंड, हिमाचल, यूपी एमपी, छत्तीसगढ़, पूर्वी राजस्थान, महाराष्ट्र, बिहार, झारखंड, आंध्र, तेलंगाना, दक्षिणी कर्नाटक, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में भारी बारिश की आशंका है। देशभर में अब तक 626 मिमी बारिश हो चुकी है।

शारदा नदी खतरे के निशान से ऊपर:

वहीं, गंगा नदी नरौरा, फरुखाबाद और बलिया में, यमुना नदी मावी और हमीरपुर में और शारदा नदी शारदानगर में खतरे के निशान के नजदीक बह रही है। बाढ से हजारों एकड़ फसल को नुकसान हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here