आभिषेक जी आपने मोदी विरोध में गांधी जी को क्यों लपेट लिया !

0
71

नवेद शिकोह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा और राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के विरुद्ध एजेंडा चलाना पत्रकारिता नहीं हैं। बाक़ायदा प्रोफेशनल अंदाज़ में इस तरह का एजेंडा चलाने वाले ज्यादातर पत्रकार बेरोज़गार हैं। एकतरफा एक एजेंडे पर सोशल मीडिया में लिखना शायद इनकी मजबूरी होगी। क्योंकि पापी पेट के आगे पत्रकारिता के सिद्धांतों की एक नहीं चलती।

एक युवा और अनुभवी पत्रकार हैं अभिषेक उपाध्याय। इन्होंने तमाम ब्रॉड न्यूज चैनलों में धारधार और निष्पक्ष रिपोर्टिंग की है। जब हमारे लखनऊ में थे तब भी इनकी ख़बरें चर्चा का विषय रहती थीं। मुझे याद है इनकी बेबाक रिपोर्टिंग किसी को नहीं छोड़ती थी। अब पता नहीं इनको क्या हो गया है। इनका क़लम एकतरफा यानी एक एजेंडे का ग़ुलाम बन गया है। सोशल मीडिया पर इनके लेख प्रधानमंत्री नरेंद्र के सपनों के भारत को चुनौती दे रहे हैं। पत्रकार महोदय महत्मा गांधी को लेकर भाजपा के ताज़ा विचारों को झुठला रहे हैं। गांधी को लेकर संघ प्रमुख मोहन भागत के ख्याल से नाइत्तेफाकी रख रहे हैं।

मोदी के सपनों के भारत के महल पंहुचने के लिए हमें गांधी के विचारों, नीतियों, सिद्धांतों और मूल्यों के रास्ते तय करना होंगे। हमारे प्रधानमंत्री कुछ इस तरह के उद्गारों के जरिए देश को गांधी के विचारों के प्रति जागरूक करने का निरंतर प्रयास कर रहे हैं। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तो बापू को श्रद्धांजलि देने का एक नया इतिहास रच दिया है। संघ प्रमुख मोहन भागवत का राष्ट्रपिता महत्मा गांधी पर दैनिक भास्कर में जो ताज़ा लेख छपा है वो गांधी के प्रति संघ के सम्मान की शिद्दत बयां कर रहा है।

संघ के नये विचारों, भाजपा के ताज़ा तेवरों अपने प्रधानमंत्री से ना जाने किस बात का बुग़्ज़ है कि उनके खिलाफ चलना कुछ कलमकारों की फितरत हो गई है। पहली बार प्रधानमंत्री की शपथ लेने से पहले वाराणसी में गंगा आरती कार्यक्रम से लेकर (गांधी जयंती 2019)अब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्मा गांधी के जितने गुणगान किये शायद किसी भी नेता/प्रधानमंत्री/कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने नहीं किये। गांधी पर मोदी के सैकड़ों बयानों का भावार्थ तो यही कहता है कि- गांधी ही भारत है, और भारत गांधी है। गांधी के बिना भारत का तसव्वुर भी नहीं किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी गांधी जी की समाधि पर दंडवत होकर प्रणाम करते हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी गांधी जयंती पर 36 घंटे निरंतर विधानमंडल का विशेष सत्र चलाकर एक रिकार्ड बनाते हैं और दुनिया को बताते हैं कि बापू का हमारे दिलों में क्या रुतबा है।

बस यही करण है कि भाजपा.. मोदी और संघ विरोधी कलमकारों ने महत्मा गांधी पर हमले शुरु कर दिया हैं।
युवा पत्रकार आभिषेक उपाध्यक्ष महत्मा गांधी के कद को छोटा साबित करने वाले आलेखों की एक सिरीज सोशल मीडिया पर जारी कर रहे हैं।

लगने लगा है कि मोदी विरोधी अब मोदी के सबसे प्रिय गांधी जी पर भी हमलावर हो गये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here