काले धन को सफेद करने के लिए हुई नोटबंदी: राहुल

0
350
  • उद्योगपति के काले धन को सफेद करने के लिए उठाया था यह कदम
  • नोटबंदी ने युवाओं, किसानों, छोटे दुकानदारों और महिलाओं को भारी नुकसान पहुंचाया

नई दिल्ली, 31 अगस्त 2018: नोटबंदी के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को जवाब देना चाहिए कि जब बेरोजगारी जैसे मुद्दे बरकरार हैं, तो उन्होंने नोटबंदी जैसा गहरा घाव क्यों दिया?

उन्होंने कहा कि नोटबंदी काले धन को सफेद करने के लिए की गई थी राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी का उद्देश्य काफी पीएम मोदी के दोस्तों की मदद करने के लिए की गई थी नोटबंदी से नहीं की गई थी। उन्होंने कहा कि नोटबंदी कोई गलती से नहीं की गई थी यह जानबूझकर उठाया गया कदम था उन्होंने कहा कि यूपीए के शासन में एनपीए 2.5 लाख करोड़ रुपए का जो कि अब बढ़ कर 12.5 लाख करोड़ों रुपए हो गया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी का कोई भी नतीजा सामने नहीं आया उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबंदी सबसे बड़ा घोटाला है आम आदमी से लिया गया पैसा 8:30 वाले पूंजीवादियों को दिया गया।

जेटली बोले: नोटबंदी का उद्देश्य पुराने नोटों को रद्द करना नहीं था

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राहुल गाँधी के आरोपों का खंडन करते हुए गुरुवार को कहा कि नोटबंदी का उद्देश्य लोगों के पास पड़े पुराने नोटों को रद्द करना ही नहीं था बल्कि इसके कई उद्देश्य थे जिनमें अर्थव्यवस्था को औपचारिक बनाना और काला धन पर प्रहार करना भी शामिल है।

रिजर्व बैंक की बुधवार को जारी वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया कि नोटबंदी के बाद 500 और 1000 के बंद किए गए अधिकांश नोट बैंकों में वापस आ गए हैं। मूल्य के आधार पर इनमें से 99.3% नोट बैंकों के पास वापस आए हैं।इस पर विपक्षी दलों द्वारा उठाए गए सवालों के जवाब में जेटली ने कहा कि नोटबंदी के पास नहीं था नोटबंदी हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here