आरक्षण पर कुठाराघात करने वालों को हर अवसर पर दिया जायेगा मुंहतोड़ जवाब

0
554
  • आरक्षण के जनक छत्रपति साहू जी महाराज की 143वीं जयन्ती पर आरक्षण समर्थकों ने पुष्प अर्पित कर उन्हें किया याद और आरक्षण को बचाने की ली शपथ।
  • छत्रपति साहू ही महाराज की जयन्ती के अवसर पर सरकार द्वारा उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण व साफ सफाई न किये जाने से आरक्षण समर्थकों में रोष।
  • 117वां पदोन्नति बिल पास न कराके मोदी सरकार ने किया दलितों का अपमान।
  • साहू जी महाराज की जयन्ती पर पिछड़े वर्ग के कार्मिकों में भी दिखा उत्साह, संघर्ष समिति ने पिछड़े वर्ग के कार्मिकों के लिये मांगा पदोन्नति में आरक्षण।

समिति,उप्र द्वारा प्रदेश के सभी जनपदों सहित लखनऊ में साहू जी महाराज को याद किया गया। लखनऊ में गोमती नगर समता मूलक चैक पर स्थित छत्रपति साहू जी महाराज की प्रतिमा पर प्रातः 8 बजे आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र संयोजक मण्डल द्वारा पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया गया। आज लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में पिछड़ें वर्ग के कार्मिकों में भी साहू जी महाराज की जयन्ती को लेकर काफी उत्साह देखने को मिला।

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा ने संघर्ष समिति के सभी संयोजकों को आरक्षण को बचाने की शपथ दिलाते हुए यह कसम खिलायी कि जब तक लोकसभा से पदोन्नति में आरक्षण संवैधानिक संशोधन 117वां बिल पास नहीं हो जाता तब तक पूरे देश व प्रदेश में आरक्षण समर्थक चुप नहीं बैठेंगे एवं आरक्षण पर कुठाराघात करने वाले आरक्षण विरोधियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा। संघर्ष समिति के संयोजकों ने पिछड़ें के कार्मिकों को भी पदोन्नति में आरक्षण देने की मांग उठायी।

संघर्ष समिति के नेताओं ने उप्र सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि आज छत्रपति साहू जी महाराज की जयन्ती पर न तो साहू जी प्रतिमा पर सरकार की तरफ से माल्यार्पण किया गया और न ही कोई साफ सफाई की गयी। जो दलित और पिछड़े समाज के लिये बहुत ही अपमान जनक स्थिति है। आरक्षण के जनक साहू जी को इस तरह भुला देना दलित और पिछड़ों का घोर अपमान है। सुबह ही संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने गोमती नगर समता मूलक चैक पहुंचकर साफ सफाई की तत्पश्चात उन्हें पुष्प अर्पित किया।

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के संयोजकों अवधेश कुमार वर्मा, केबी राम, डा. रामशब्द जैसवारा, आरपी केन, अनिल कुमार, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, पीएम प्रभाकर, रीना रजक, बीना दयाल, तुलसी, बनी सिंह, अशोक सोनकर, प्रेम चन्द्र, प्रतोष कुमार, पीपी सिंह, घनेन्द्र सिंह, सत्य नारायण थारू, रंजीत कुमार, सच्चिदानंद सिन्हा, राजेश पासवान, अजय धानुक, जगन्नाथ प्रसाद, सुनील कनौजिया, राम नरेश, दयाराम सोनकर ने कहा कि जिस प्रकार से केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा पिछले 3 वर्षों से ज्यादा पदोन्नतियों में आरक्षण के बिल को लोकसभा में लटका कर दलित व पिछड़ों का अपमान किया जा रहा है। उससे यह सिद्ध हो गया है कि भाजपा सरकार को दलित व पिछड़ों से कोई लेना देना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here