अम्बेडकर नगर जनपद में 401 दलित शिक्षकों का वेतन किया कम, दलित शिक्षक भड़के

0
  • गलत रिवर्शन व वेतनमान कम किये जाने पर संघर्ष समिति का ऐलान
  • 9 जुलाई को अम्बेडकर नगर में आरक्षण समर्थकों का विशाल महासम्मेलन
  • लगेगा जमावड़ा और आर-पार की लड़ाई का होगा ऐलान।
  • प्रदेश में अम्बेडकर नगर पहला ऐसा जनपद जहां रिवर्शन के बाद उनके मूल वेतन को भी घटाया।

 

बेसिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत जनपद अम्बेडकर नगर में सपा सरकार में 401 दलित शिक्षकों को गलत तरीके से रिवर्ट कर अपमानित किया गया था, अब वहीं भाजपा सरकार में अम्बेडकर नगर जनपद में दलित शिक्षकों के उत्पीड़न की इन्तहा करते हुए एक कदम आगे बढ़कर सभी 401 दलित शिक्षकों के मूल वेतन रू0 23990 को गलत तरीके से कम करके रू0 20480 कर दिया गया है जो उ0प्र0 में पहली घटना है और अब उसी के आधार पर सातवें वेतनमान का निर्धारण करते हुए वेतन रू0 62200 के बजाय दलित शिक्षकों को रू0 53600 दिया जा रहा है।

अम्बेडकर नगर जनपद के शिक्षकों को जब अपने कम वेतनमान का पता चला तो अम्बेडकर नगर के दर्जनों शिक्षक आज आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के कार्यालय लखनऊ पहुंचे और अपनी व्यथा से संयोजक मण्डल को अवगत कराया। इस तुगलकी असंवैधानिक आदेश के विरोध में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 ने उसी क्षण ऐलान कर दिया कि दिनांक 9 जुलाई 2017 को जनपद अम्बेडकर नगर में विशाल आरक्षण बचाओ महासम्मेलन आयोजित होगा, जिसमें आर-पार की लड़ाई का ऐलान किया जायेगा। पूरे प्रदेश से हजारों की संख्या में आरक्षण समर्थक कार्मिक व शिक्षक जनपद अम्बेडकर नगर पहुंचेंगे।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के संयोजकों अवधेश कुमार वर्मा, के0बी0 राम, डा0 रामशब्द जैसवारा, आर0पी0 केन, अनिल कुमार, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, बनी सिंह, अशोक सोनकर, प्रेम चन्द्र, राजेश पासवान ने कहा कि सपा सरकार में पहले आरक्षण अधिनियम 1994 की धारा-3(2) के तहत पदोन्नति पाये जनपद अम्बेडकर नगर के सैकड़ों दलित शिक्षकों को गलत तरीके से रिवर्ट किया गया और अब उनके वेतनमान को कम किया गया है, जिससे पूरे प्रदेश के दलित शिक्षकों में काफी रोष व्याप्त है। उ0प्र0 में यह पहला मौका है जब किसी जनपद में दलित शिक्षकों के वेतनमान को कम किया गया है। अम्बेडकर नगर जनपद के ही दर्जनों दलित शिक्षक जो अन्तर्जनपदीय वरिष्ठता में सबसे नीचे कर दिये गये थे, उनका भी वेतनमान कम करके उन्हें दोहरा दण्ड दिया जा रहा है वहीं उनके समकक्ष सामान्य वर्ग के शिक्षकों को ज्यादा वेतनमान देकर उनका महिमामण्डन किया जा रहा है।
बैठक में प्रमुख रूप से जनपद अम्बेडकर नगर से आये संघर्ष समिति के संयोजकों श्री सत्येन्द्र आर्य, सन्तोष कुमार, इन्द्रजीत, यादराम गौतम, हरिश्चन्द्र गौतम, राजनाथ, इन्द्र कुमार, राम लाल, राम जीत, राम सूरत, राकेश कुमार, राम किशुन ने भी भाग लिया।