शाही अंदाज में शाही परिवार के साथ लें भोजन का आनंद

0
672

पाक-कला का यह उत्सव 26 अक्तूबर से शुरू होकर तीन दिन तक चलेगा। इस उत्सव में दिल्ली वासियों को न सिर्फ राजसी भोजन का बल्कि शाही परिवारों के साथ बैठ कर खाना खाने का मौका भी मिलेगा

नयी दिल्ली, 24 अक्तूबर : खान पान के शौकीनों को आॅनलाइन प्लेटफॉर्म ईटविदइंडिया द्वारा शुरू किए जा रहे एक नए प्रयास – शाही अंदाज में जल-पान में विशुद्ध राजसी भोजन का स्वाद लेने का अनोखा अवसर मिल सकेगा।
देश भर के 20 शाही परिवार इस प्रयास का हिस्सा हैं जो अपनी राजसी थाली का खाना परोसने की तैयारी कर रहे हैं।
इस प्रयास के जरिए, अत्यधिक संरक्षित उस भारतीय शाही पाक कला संपदा को सामने लाया जाएगा जिसे रियासतों की रसोई में सहेज कर रखा जाता था और आने वाली पीढी को सौंपा जाता था।

पाक-कला का यह उत्सव 26 अक्तूबर से शुरू होकर तीन दिन तक चलेगा। इस उत्सव में दिल्ली वासियों को न सिर्फ राजसी भोजन का बल्कि शाही परिवारों के साथ बैठ कर खाना खाने का मौका भी मिलेगा। साथ ही वह पाक कला की उन परंपराओं के बारे में भी जानकारी हासिल कर पाएंगे जिनका शाही परिवार पूर्व में पालन करते थे।

आॅनलाइन प्लेटफॉर्म ईटविदइंडिया से संबद्ध डाइन विद रॉयल्टी की संस्थापक सोनल सक्सेना ने बताया, इसका मकसद भारतीय भोजन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढावा देना और भारतीय पाक प्रणाली की विविधता तथा गहराई को देखते हुए इसे वह सम्मान दिलाना है जिसकी यह हकदार है।

सक्सेना ने बताया कि उन्होंने और उनकी टीम ने पूरे भारत की यात्रा कर ऐसे शाही परिवारों को चुना है जो पाक शैली की विविधता और खूबियों को प्रदर्शित कर सकें। इनमें भारत के 12 राज्यों के व्यंजनों का समावेश होगा और इसमें केवल वही खाना मिलेगा जो महल में पकाया जाता था। साथ ही मेन्यू में ऐसे व्यंजन शामिल किए गए हैं जिनका इतिहास में जिक्र तो है लेकिन वह अब उपलब्ध नहीं हैं।

यह उत्सव बेल्जियम के दूतावास में आयोजित होगा

आयोजन में शामिल होने वाले शाही परिवार आरोन, म्याना, अमरकोट, अवध, बडनौर, लिम्बदी, बालसिनोर, भैंसरोरगढ, बेडला, भोपाल, बोलांगीर, देवलिया, कलां, झाबुआ, झालामंद, जोधपुर, कांगडा, कनोता, किशनगढ, कोटवार, लोहारू, महमूदाबाद, निमाज, पतियाला, राघोगढ, सांदुर, रामपुर और संतरामपुर के हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here