उसका पल्लू थाम लें, जिससे बनता काम

0
622
file photo

उसका पल्लू थाम लें, जिससे बनता काम।
गयाराम कल तलक थे, अब हैं आयाराम।।
अब हैं आया राम, न कल का रहे ठिकाना,
किस खेमे में रहे, कहां हो आबूदाना,
पक्के तोताचश्म, ना समझो इनको लल्लू।
जिससे बनता काम, थाम ले उसका पल्लू।।

  • सीएम त्रिपाठी
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here