राज्य सरकार ‘ईज़ आॅफ डूईंग बिजनेस’ को बढ़ावा  देने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है: मुख्यमंत्री 

0
322

मुख्यमंत्री से पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स के प्रतिनिधिमण्डल ने भेंट की

ऊर्जा, सड़क सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में 
बुनियादी ढांचे का विकास राज्य सरकार की प्राथमिकता

प्रदेश में धार्मिक, आध्यात्मिक, हेरिटेज एवं ईको पर्यटन, 
वन्य जीव एवं पक्षी विहार के क्षेत्र में विकास की असीम सम्भावनाएं

लखनऊ: 10 फरवरी, 2018: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार ‘ईज़ आॅफ डूईंग बिजनेस’ को बढ़ावा देने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। प्रदेश में भविष्य की आवश्यकताओं के मद्देनजर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। ऊर्जा, सड़क सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का विकास राज्य सरकार की प्राथमिकता है। विकास कार्यों से प्रभावित होकर निवेशक उत्तर प्रदेश को निवेश के एक आकर्षक गंतव्य के रूप में स्वीकृति प्रदान कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री आज यहां शास्त्री भवन में पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स के प्रतिनिधिमण्डल से भेंट के दौरान अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स द्वारा प्रदेश के विकास में ली जा रही रुचि की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश में धार्मिक, आध्यात्मिक, हेरिटेज एवं ईको पर्यटन, वन्य जीव एवं पक्षी विहार के क्षेत्र में विकास की असीम सम्भावनाएं हैं। उन्होंने पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स से राज्य सरकार की प्राथमिकताओं वाले क्षेत्रों में निवेश किए जाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उन्हें हर सम्भव सहूलियतें उपलब्ध कराएगी।
श्री योगी ने कहा कि ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना में भी पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स सहयोग प्रदान कर सकता है। इस सम्बन्ध में आधुनिक तकनीक व नई डिजाइन के साथ परम्परागत उत्पादों को जोड़ते हुए विपणन को बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स द्वारा दिए गए निवेश सम्बन्धी प्रस्तावों पर गम्भीरता से विचार करते हुए कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रस्तावों को देते समय यह देखा जाना चाहिए कि वे अब तक अविकसित रहे सेक्टरों के विकास से जुड़े हों और रोजगार की सम्भावनाओं को सृजित करते हों।
प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री को प्रदेश के विकास में हर सम्भव सहयोग दिए जाने का आश्वासन देते हुए कहा कि राज्य सरकार ने पूंजी निवेश और उद्योगों की स्थापना के लिए नया वातावरण सृजित किया है। प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने हेरिटेज, ईको पर्यटन तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के क्षेत्र में कार्य किए जाने की इच्छा जताते हुए कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप अवस्थापना विकास एवं निवेश सम्बन्धी अन्य प्रस्ताव पीपीपी माॅडल पर प्रस्तुत किए जाएंगे। प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री जी को स्मृति चिन्ह् भेंट किया और 21 व 22 फरवरी को ‘इन्वेस्टर्स समिट-2018’ के सफल आयोजन के लिए शुभकामनाएं दीं।
इस अवसर पर अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अनूप चन्द्र पाण्डेय, पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स के प्रेसीडेण्ट अनिल खेतान, यूपी स्टेट कमेटी के सीओ चेयरमैन गौरव प्रकाश, सेक्रेट्री जनरल श्री सौरभ सनयाल, डायरेक्टर आरके सरन, श्रीमती अनुराधा गोयल, अशोक गुप्ता, विवेक सिंघल तथा श्री महेश गुप्ता मौजूद थे।