किम जोंग से तनातनी के चलते अमेरिका और दक्षिण कोरियाई संयुक्त सैन्याभ्यास की तैयारी में

0
463
file photo

योंगयांग। उत्तर कोरिया के किम जोंग की गुआम में मिसाइल दागने की धमकी देने के कुछ हफ्ते बाद ही अमेरिका और दक्षिण कोरियाई सैन्य बल संयुक्त सैन्य अभ्यास की तैयारी कर रहे हैं। मीडिया खबरो के मुताबिक, हर साल अगस्त से दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सुरक्षाबल संयुक्त रूप से सैन्याभ्यास करते हैं।

महीनों से अमेरिका व दक्षिण कोरिया वार्षिक अभ्‍यास ‘उल्ची फ्रीडम गार्जियन’ की योजना बना रहे हैं जिसमें कोरियाई पेनिन्सुला में तैनात 14,500 अमेरिकी सैन्य बल के अतिरिक्त 3,000 जवान शामिल होंगे।
हर साल उत्तर कोरिया इस सैन्याभ्यास की आलोचना करते हुए इसे अपने खिलाफ युद्ध की तैयारियों के अनुरूप देखता है। पेंटागन के बताये अनुसार, कम्प्यूटर सिम्युलेटेड रक्षात्मक अभ्यास है जो तैयारी बढ़ाने, क्षेत्र की सुरक्षा और कोरियाई प्रायद्वीप पर स्थिरता बनाए रखने के लिए डिजाइन किया गया है।

सोमवार से किम और राष्ट्रपति ट्रंप के बढ़ते तनाव के बीच यह अभ्यास शुरू होगा। साथ ही 8 अगस्त को ट्रंप ने उत्तर कोरिया को धमकी दी थी कि उत्तर कोरिया की आक्रामकता का मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा।
गुआम अमेरिकी द्वीप का हिस्सा है जहां दो अमेरिकी मिलिट्री बेस हैं। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, अमेरिका ने उत्तर कोरिया में कोई ऐसी गतिविधि नहीं देखी जो मिसाइल लांच का इशारा करता हो। 2017 में अब तक उत्तर कोरिया 11 बैलिस्‍टिक मिसाइल परीक्षण कर चुका है।