इंदौर में महिंद्रा बाहा एसएई इंडिया 2019 के 12वें संस्करण का शुभारंभ  

0
•363 प्रविष्टियों में से 251 कॉलेज फाइनल के लिए चुने गये 
इंदौर, 23 जनवरी 2019: ऑटोमोटिव इंजीनियर्स की पेशेवर संस्था, एसएई इंडिया, ने आज बहुप्रतीक्षित बाहा श्रृंखला के बारहवें संस्करण का शुभारंभ किया गया। इवेंट का फाइनल कार्यक्रम, टाइटल प्रायोजक महिंद्रा और लगभग 40 अन्य इंडस्ट्री प्रायोजकों के साथ, 24 से 27 जनवरी 2019 तक इंदौर के पास पीथमपुर में नैट्रिप स्थाल पर आयोजित किया जाएगा।
बाहा एसएई इंडिया के लिए लगभग 363 प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई थीं, जिनमें से 201 टीमों को पारंपरिक एम-बाहा के लिए और 50 टीमों को वर्चुअल राउंड से ई-बाहा के लिए चुना गया। इसके बाद 28 जनवरी और 29 जनवरी 2019 को एचआर की बैठक होगी। महिंद्रा बाहा एसएई इंडिया 2019 को भारत के सभी क्षेत्रों- पश्चिमी, उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी क्षेत्रों से प्रतिनिधित्व के साथ भारी प्रतिक्रिया मिली है।
चार दिवसीय कार्यक्रम में तकनीकी निरीक्षण, स्टै टिक इवैल्यू्एशन जैसे डिजाइन, लागत एंव बिक्री प्रस्तुति और डायनेमिक इवेन्ट्स जैसे एक्सीलेरेशन, सस्पें्शन एंव ट्रैक्श न, स्लेज पुल, और मैनुवर्बिलिटी यानी गतिशीलता शामिल होंगे। ई-बाहा के लिए दो घंटे का एन्ड्यूारेंस राउंड और एम-बाहा के लिए चार घंटे का एन्ड्यू रेंस राउंड क्रमशः 26 और 27 जनवरी 2019 को आयोजित किए जाएंगे।
बाहा एसएई इंडिया की एक उल्लेखनीय विशेषता है कि यह हर साल एक नई थीम को अपनाता है। इस वर्ष, बाहा 2019 का विषय ‘एडवेंचर रीलोडेड’ है, जो नवोदित इंजीनियरों की लगन, कड़ी मेहनत एवं दृढ़ता और चुनौतियों से मुकाबला करने और अधिकतम प्रयास करने की उनकी क्षमता का जश्न मनाता है।
 बाहा 2019 के समापन समारोह के लिए, देशभर के इंजीनियरिंग कॉलेजों से प्राप्त़ प्रविष्टियों को 2018 के जुलाई में चितकारा यूनिवर्सिटी, पंजाब में आयोजित वर्चुअल राउंड में प्रदर्शित किया गया था, जहाँ उन्होंने उस बाहा बग्गीु वाहन के लिए अपने डिजाइन प्रस्तुत किए थे, जिसे वे समापन कार्यक्रम के लिए डिज़ाइन करना चाहते थे।
क्वालिफ़ाइंग टीमों का चयन उनकी लिखित परीक्षा, कैड डिज़ाइन्स, सीएई विश्लेषण और रोल केज, सस्पेंशन, स्टीयरिंग  और ब्रेक्स के डिजाइनों के गहन विश्लेषण और तुलना के माध्यम किया गया था। वर्चुअल बाहा में प्रस्तुत प्रविष्टियाँ वर्चुअल मॉक-अपथीं जो प्रतिभागियों द्वारा सटीक एवं विशिष्टई विवरणों के साथ बनाई जायेंगी। फाइनल राउंड में टीमें अपनी बग्गीप रेस कार का निर्माण करते हुए ऑटोमोबाइल से सम्बं धित अपने कौशल, समझ और जुनून का प्रदर्शन करेंगी।
इस अवसर पर, महिंद्रा इलेक्ट्रिक के सीईओ महेश बाबू ने कहा कि बाहा एसएई इंडिया मोटर वाहन इंजीनियरिंग के लिए प्रतिभाओं का खजाना है और हमारे एसोसिएशन के माध्यम से, हम उद्योग के उज्ज्वल भविष्य के लिए कल के इन उज्ज्वल इंजीनियरों को मदद करने की उम्मीमद करते हैं।”
श्री बाबू ने कि “पिछले एक दशक में बाहा एसएई के विकास से मैं विशेष रूप से प्रसन्न हूं। पारंपरिक से लेकर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी तक में काफी विकास हुआ है। यह परिवर्तन लोकप्रिय ई-बाहा के आने के साथ स्पटष्टप दिख रहा है। महिंद्रा इलेक्ट्रिक में हमने एक संपूर्ण इलेक्ट्रिक बग्गी किट का निर्माण किया है जिसका उपयोग बाहा वाहनों में भी किया जा सकता है। मुझे यकीन है कि हम ग्रांउड पर एक जोरदार प्रतियोगिता के लिए तैयार हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here