नहीं दिखा अजमेर में चाँद, तरावीह की नमाज़ आज रात

0
1357
  • रमजान महीने का चांद बुद्धवार को नहीं दिखाई दिया, अब तरावीह की नमाज़ की शुरुआत गुरुवार की रात से होगी जबकि पहला रोजा कल शुक्रवार को होगा 
 डी. राय
अजमेर, 17 मई। शाबान महीने की 29 तारीख को देखते हुए मगरिब की नमाज के बाद दरगाह में हिलाल कमेटी की बैठक आयोजित हुई, जिसकी अध्यक्षता शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी ने की,हिलाल कमेटी ने अन्य कई जिलों में चांद कीशहादत को लेकर सम्पर्क किया किन्तु कहीं से भी चाँद दिखाई देने की शहादत नहीं मिली जिस के बाद इशा की नमाज अन्य दिनों की तरह ही अदा की गई। इशा की नमाज के बाद एक बार पुनः हिलाल कमेटी के सदस्यों द्वारा बैठक की गई और एक बार फिर विभिन्न क्षेत्रों से चाँद निकलने की जानकारी मांगी गई। परन्तु चाँद दिखाई देने की शहादत कहीं से भी नहीं मिली। इस पर ऐलान किया गया कि अब गुरुवार से तरावीह की खास नमाज की शुरुआत होगी तथा पहला रोजा शुक्रवार को होगा।

एक लाख लोगों को रोजा इफ्तार और सेहरी कराएगी अंजुमन सैयदजादगान

दरगाह के खादिमों की तंजीम(संस्था ) अंजुमन सैयदजादगान  रमजान के महीने के दौरान एक लाख रोजेदारों को सेहरी और इफ्तार कराएगी तथा यह आयोजन शुक्रवार को पहले रोजे के साथ ही शुरू हो जायेगा।
यह जानकारी देते हुए अंजुमन के सचिव सैयदवाहिद हुसैन अंगाराशाह ने बताया कि हर वर्ष अंजुमन की तरफ से रोजेदारों के लिये सेहरी और इफ्तार का बन्दोबस्त किया जाता है जिसका इन्तजाम दरगाह मेंपूरे 30 दिनों तक दोनों वक़्त सुबह शाम  होता है।  अंजुमन की ओर से सदस्य हाजी सैयद अहमद हुसैन चिश्ती को कन्वीनर बनाया गया है। जिनकी देखरेख में रमजान माह के दौरान रोजेदारों के वास्ते  व्यवस्था की जायगी  सचिव अंगाराशाह ने बताया कि दरगाह के मुख्य द्वार के साथ ही दरगाह के अन्य स्थानों पर भी सेहरी और इफ्तार की व्यवस्था सम्बन्धित सूचना देने वाले बैनर्स लगवा दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here