Home विषय मुद्दे आइये मनाएं: डॉक्टर्स डे

आइये मनाएं: डॉक्टर्स डे

0
761
आशुतोष कुमार सिंह
आज ही के दिन 1882 में बिहार की राजधानी पटना में एक भारत रत्न का जन्म हुआ था। चिकित्सा की दुनिया में आपने एक फिजिसियन के रूप में भारत को वैश्विक स्तर पर स्थापित किया। एक चिकित्सक कैसे समाज के मुख्यधारा से जुड़कर सामाजिक सरोकारों को जिता है, इसका जीता जागता उदाहरण थे, डॉ.बी.सी.रॉय। यानि डॉ विधान चंद्र राय। आजादी की लड़ाई में आप जितना सक्रीय रहे उतना ही चिकित्सा के क्षेत्र में भी।
बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री रहे डॉ बीसी रॉय को 4 फ़रवरी 1961 को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। और आज ही के दिन 1962 में 80 वर्ष की आयु में इस महान डॉक्टर ने अपनी अंतिम साँस ली।
1991 में भारत सरकार ने डॉ बीसी रॉय को नमन करते हुए इस दिन को #डॉक्टर्स_डे के रूप में मनाने की घोषणा की। तब से आज के दिन पूरा देश चिकित्सकों को सम्मान देने के लिए चिकित्सक दिवस मना रहा है।
ऐसे में एक सवाल यह भी है क्या आज के डॉक्टर डॉ बीसी रॉय के सामाजिक सरोकार को अपने जीवन में उतार पाये हैं। डॉक्टरों की संवेदनहीनता की खबरे आये दिन अख़बारों के कागज को काला कर रही हैं। बावजूद इसके ऐसा नहीं है की अच्छे डॉक्टर्स नहीं है। ऐसे तमाम डॉक्टर्स हैं, जो निःस्वार्थ समाज की सेवा कर रहे हैं। ऐसे ही एक डॉक्टर हैं डाॅ एन के आनंद। #स्वस्थ_भारत_अभियान के साथ जुड़कर बालिकाओं को फ्री में ओपीडी कर रहे हैं। इनकी जितनी तारीफ की जाये कम है। पुणे में एक डॉक्टर हैं डॉ राख। वे भी इस दिशा में अच्छा काम कर रहे हैं। कर्नाटक हेल्थ इंस्टिट्यूट, घटप्रभा,कर्नाटक के डॉ घनश्याम लगातार स्वास्थ्य के दिशा में बेहतर काम कर रहे हैं। दिल्ली में Nestiva अस्पताल के चिकित्सक Ankesh Ranjan एवं साथियों के मार्गदर्शन में बेहतर काम कर रहे हैं। देश के जाने माने न्यूरो सर्जन  Dr. Manish Kumar (Neurosurgeon)बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। अपने मरीज को सस्ता इलाज कराने के लिए इन्होंने एक बड़े अस्पताल में काम करना छोड़ दिया। इसी तरह Ranjeet Kant जी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।
इस तरह देखा जाये तो अच्छे डॉक्टरों की भी एक बहुत बड़ी तादाद है। लेकिन कुछ लोभी, मक्कार और उदंड डॉक्टर भी इस पेशा में घुसपैठ कर गए हैं। उनकी पहचान करना बाकि डॉक्टरों को करना चाहिए और उनका बहिष्कार करने की जरुरत है। ताकि खोटा सिक्का  इस बेहतरीन पेशे से बाहर हो जाएं। और  आज के समय में जो दाग इस पेशे पर लग रहा है वो बिना सर्फ़ साबुन के धूल सके।
देश के सभी अच्छे डॉक्टरों को प्रणाम करते हुए उनको #डॉक्टर्स डे की शुभकामनाये देता हूँ।
Happy #DoctorsDay

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here